धान उठाव तेज करेंगे मिलर्स, कलेक्टर ने ली बैठक,अगले एक सप्ताह में युद्धस्तर पर होगा कस्टम मिलिंग का कार्य

 

दुर्ग ।

असल बात न्यूज़।

 अगले एक सप्ताह में मिलर्स धान का उठाव तेज करेंगे और कस्टम मिलिंग का कार्य युद्धस्तर पर किया जाएगा। कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे की अध्यक्षता में हुई बैठक में मिलर्स ने कहा कि इस हफ्ते धान उठाव का काम तेजी से किया जाएगा। कलेक्टर ने कहा कि शासन ने कैबिनेट की बैठक में धान खरीदी में प्रोत्साहन राशि आदि से संबंधित महत्वपूर्ण निर्णय लिये हैं जिनके कार्यान्वयन से मिलर्स को लाभ होगा।

 उन्होंने कहा कि बैंकों की ओर से किसी तरह से समन्वय की जरूरत है तो एडीएम लीड बैंक आफिसर के माध्यम से समन्वय कर दिक्कत दूर कराएंगे। उन्होंने कहा कि धान का उठाव जितनी तेजी से होगा, धान खरीदी की व्यवस्था मुकम्मल रखने में उतनी ही मदद मिलेगी। कलेक्टर ने कहा कि शासन ने मिलर्स की दिक्कतों को ध्यान में रखते हुए अनेक निर्णय लिये हैं जिससे उनके लिए काम आसान होगा। उन्होंने राइस मिल एसोसिएशन के अध्यक्ष से कहा कि आप लोग आपस में समन्वय कर इस कार्य को दुरूस्त कर लें, आपसी समन्वय के माध्यम से अपनी क्षमता के मुताबिक कार्य तय कर लें ताकि लक्ष्य प्राप्त करने की दिशा में समुचित पहल की जा सके। फूड कंट्रोलर श्री सीपी दीपांकर ने भी इस संबंध में अपनी बात कही। उन्होंने कहा कि बैंक गारंटी जमा करें और धान का उठाव करें ताकि एफसीआई में चावल जमा किया जा सके। जितनी तेजी से यह उठाव होगा, समितियों के लिए भी उतनी ही आसान स्थिति बनेगी।

 बैठक में मिलर्स ने कहा कि अगले एक हफ्ते के भीतर स्थिति में पर्याप्त सुधार हो जाएगा। किसी तरह  के समन्वय की स्थिति में फूड कंट्रोलर और डीएमओ से इस संबंध में चर्चा करेंगे। कलेक्टर ने कहा कि धान खरीदी का कार्य प्रदेश में सर्वाधिक महत्वपूर्ण कार्यक्रम होता है और सबके सहयोग से तथा युद्धस्तर पर किये गये अच्छे कार्य से ही यह काम बेहतर तरीके से संपन्न होता है। इस साल भी मिलर्स तेजी से टारगेट के अनुरूप लक्ष्य प्राप्त करें, किसी भी तरह के समन्वय के लिए जिला प्रशासन सहयोग करने तैयार है। बैठक में मिलर्स ने अपने स्थानीय विषय भी कलेक्टर के समक्ष रखे। कलेक्टर ने कहा कि आपके सरोकारों से शासन को अवगत कराया जाएगा ताकि शीघ्र ही इस दिशा में उचित पहल की जा सके। इस अवसर पर राइस मिल एसोसिएशन के पदाधिकारी, डीएमओ एवं अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।