कवर्धा जल रहा है छत्तीसगढ़ सम्हल नहीं रहा है, और मुख्यमंत्री यूपी में गाल बजा रहे हैं

 

0 कवर्धा की स्थिति बिगाड़ने के लिए शासन एवं प्रशासन दोषी-  बृजमोहन अग्रवाल 

 रायपुर।

असल बात न्यूज़।।

 भाजपा विधायक एवं पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कवर्धा में तनाव को लेकर सीधे-सीधे मुख्यमंत्री पर आरोप लगाते हुए कहा है कि राज्य सरकार की अक्षमता, प्रशासन की लापरवाही व वहां के स्थानीय जनप्रतिनिधि द्वारा एक वर्ग विशेष के लोगों के समर्थन में आम जनता के ऊपर लाठीचार्ज के चलते यह स्थिति निर्मित हुई है। कवर्धा की जो स्थिति आज है उसके लिए भूपेश सरकार पूरी तरह जिम्मेदार है। 

श्री अग्रवाल ने अपने बयान में कहा है कि प्रदेश का एक जिला हिंसा की आग में जल रहा है प्रशासन के लोग पुलिस के अधिकारी एक वर्ग विशेष के समर्थन करते हुए आम लोग, निरीह  जनता की पिटाई कर रहे हैं पूरे जिले में भयावह स्थिति है। आसपास के जिले भी इससे प्रभावित हो रहे है पर स्थानीय विधायक, जिले के प्रभारी मंत्री जिले की जनता को भगवान भरोसे छोड़ अज्ञातवास में छिपे हुए हैं। दूसरी ओर प्रदेश के मुख्यमंत्री प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति को दुरुस्त करने के बजाए प्रियंका गांधी को खुश करने, अपनी कुर्सी बचाने उत्तर प्रदेश में घूम रहे हैं। अपने आकाओं को खुश करने उत्तर प्रदेश में धरने पर बैठे हैं। ढाई करोड़ जनता के प्रदेश की कानून व्यवस्था तो उनसे सम्हल नहीं रही है और 22 करोड़ से अधिक की जनता के प्रदेश की कानून व्यवस्था की बात कर रहे हैं।

श्री अग्रवाल ने कहा कि ऐसे समय में जब प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति ठीक करने, शांति व्यवस्था कायम करने के लिए मुख्यमंत्री की आवश्यकता है मुख्यमंत्री प्रदेश को भगवान भरोसे छोड़कर यूपी में नौटंकी करने में व्यस्त हैं।

श्री अग्रवाल ने कहा कि कवर्धा में पुलिस प्रशासन ने जनता के साथ अत्याचार किया है। लोगों को घर से निकाल-निकाल कर पीटा गया है, सड़कों पर लोगों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा है यह किसी भी दृष्टि से क्षमा योग्य नहीं है। एक वर्ग विशेष के लोगों के इशारे पर बहुसंख्यक समाज के ऊपर जो कार्यवाही की जा रही है उसका हर स्तर पर विरोध किया जाएगा।

श्री अग्रवाल ने कहा कि कवर्धा जैसी स्थिति पूरे प्रदेश में है हर जिले में सरकार के संरक्षण में खुलकर धर्मांतरण का खेल खेला जा रहा है और बहुसंख्यक समुदाय को प्रताड़ित करने का काम प्रशासन द्वारा किया जा रहा है, जिससे प्रदेश में आम जनता के मन में इस सनातन धर्म विरोधी सरकार के खिलाफ व्यापक असंतोष है जो कभी भी विस्फोटक रूप ले सकती है।