छत्तीसगढ़ स्थापना दिवस पर जिला मुख्यालयों पर एक दिवसीय कार्यक्रम का होगा आयोजन

 

*राज्योत्सव 2021 के आयोजन के संबंध में सामान्य प्रशासन विभाग ने जारी किए निर्देश


रायपुर ।

असल बात न्यूज।।

 छत्तीसगढ़ स्थापना दिवस के अवसर पर 01 नवम्बर को जिला मुख्यालयों पर एक दिवसीय कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। राज्य शासन के सामान्य प्रशासन विभाग ने राज्योत्सव 2021 के आयोजन के संबंध में आज मंत्रालय महानदी भवन से सभी जिला कलेक्टरों को विस्तृत दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं। कलेक्टरों को इन कार्यक्रमों में मंत्रीगण और संसदीय सचिवगण को अतिथि के रूप में आमंत्रित करने के निर्देश दिए गए हैं। 

      सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा जारी निर्देशों में कहा गया है कि राज्य शासन द्वारा निर्णय लिया गया है कि विगत वर्ष की भांति छत्तीसगढ़ स्थापना दिवस के अवसर पर रायपुर से भिन्न जिला मुख्यालयों पर 01 नवम्बर को एक दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन किया जाए। कार्यक्रम स्थल पर विभिन्न विकास विभाग की विभागीय प्रदर्शनी का आयोजन किया जाए। प्रदर्शनी में विभिन्न विभागों में विशेष उपलब्धियों को विशेष रूप से प्रदर्शित किया जाए। कार्यक्रम स्थल पर राज्य शासन के विभिन्न विभागों की भी महत्वपूर्ण योजनाआंे एवं सफल परियोजनाओं का प्रदर्शन किया जाए, जिसमें विगत वर्षों की उपलब्धियां भी प्रदर्शित की जाय। जिला स्तर पर स्थानीय कलाकारों के द्वारा एक नवम्बर को एक दिवसीय सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया जाए। सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन शालीन होना चाहिए। किसी प्रकार का अभद्र प्रदर्शन न हो यह सुनिश्चित किया जाये। 

      निर्देशों में कहा गया है कि जिला मुख्यालयों के समस्त शासकीय भवनों में एक नवम्बर को रात्रि में रोशनी की जाए। उक्त व्यवस्था पर होने वाला व्यय संबंधित प्रशासकीय विभाग अपने विभागीय बजट से वहन करेंगे। निर्देशों में यह भी कहा गया है कि स्थापना दिवस के अवसर पर शासन की कल्याणकारी योजनाओं के तहत हितग्राहियों को लाभान्वित किया जाए। कलेक्टरों को कहा गया है कि जिला स्तर पर होने वाले कार्यक्रमों में मंत्रीगण और संसदीय सचिव गण से अतिथि के रूप में उपस्थिति हेतु अनुरोध किया जाये तथा कार्यक्रम के आयोजन में मितव्ययता बरती जाए। 

      ज्ञातव्य है कि राजधानी रायपुर के साईंस कॉलेज मैदान में 28 अक्टूबर से एक नवम्बर तक राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव एवं राज्योत्सव का आयोजन किया जाएगा। 28 अक्टूबर से 30 अक्टूबर तक राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव, 31 अक्टूबर को पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न श्रीमती इंदिरा गांधी की पुण्यतिथि एवं लौह पुरूष सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती पर परिचर्चा एवं गोष्ठी का आयोजन तथा एक नवम्बर को राज्योत्सव एवं राज्य अलंकरण समारोह आयोजित किया जाएगा।