संभाग स्तरीय आदिवासी नृत्य महोसत्व में नृत्य दलों की मनमोहक प्रस्तुतियां

 

असल बात न्यूज़।।

 जिले में संभाग स्तरीय राष्ट्रीय आदिवासी  नृत्य कला महोत्सव में संभाग के विभिन्न जिलों से यहां पहुंचे लोक कलाकारों ने आकर्षक मंत्रमुग्ध कर देने वाली शानदार प्रस्तुतियां दी। कार्यक्रम में स्कूल शिक्षा तथा आदिम जाति कल्याण विभाग के मंत्री डॉक्टर प्रेमसाय सिंह टेकाम  मुख्य अतिथि थे।इस अवसर पर कुछ जानकारी डॉ राम ने अपने संबोधन में कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य की आदिवासी लोक कलाएं, नृत्य हमें शांति आपसी भाईचारा तथा एकजुट रहने का संदेश देती है।

कार्यक्रम की अध्यक्षयता प्रदेश के  गृह,जेल एवम पर्यटन मंत्री ताम्रध्वज साहू ने की। आदिम जाति कल्याण विभाग जिला दुर्ग कीअसिस्टेंट कॉमिशनर  प्रियंवदा रामटेके ने सभी अतिथियों का आत्मीय रूप से सवागत किया ।

 कला मंदिर सिविक सेंटर भिलाई में  19 अक्टूबर से  आयोजित इस दो दिवसीय नृत्य कला महोत्सव में  दुर्ग संभाग के 3 जिलो बालोद, बेमेतरा और दुर्ग जिले के सात आदिवासी नृत्य दलों की प्रतियोगिता आयोजित की गई । नृत्य आदिवासी संस्कृति से संबंधित समाज को संदेश देने वाले गायन के साथ वाद्य यंत्र माध्यम के सहयोग से प्रदर्शन हुआ जो अत्यंत लुभावना एवं शिक्षाप्रद रहा । 

प्रतियोगिता के अंतिम दिन संभाग के शेष 2 जिलों राजनांदगांव और कवर्धा आदिवासी दलों द्वारा कला मंदिर सिविक सेंटर भिलाई में प्रदर्शन किया गया। तत्पश्चात समारोह में पुरस्कार वितरण किया गया।यहां  प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले दलों को राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव में सम्मिलित होने का अवसर प्राप्त होगा।

संभाग स्तरीय राष्ट्रीय आदिवासी नित्य महोत्सव 2021 के समापन समारोह में कांग्रेस नेता धर्मेन्द्र यादव, जिला पंचायत की अध्य्क्ष शालिनी शिवेंद्र यादव,नीता लोधी भी विशेष रुप से उपस्तिथ थे। वहीं जिला शिक्षा अधिकारी प्रवास बघेल , समाज कल्याण विभाग के  संचालक श्री ठाकुर  भी उपस्थित थे।