तीन नये जिलों नवीन जिला ’मोहला-मानपुर-अम्बागढ़-चौकी’, ’सक्ती’ और ’सारंगढ़-बिलाईगढ़’ के गठन की प्रक्रिया शुरू

 

तीनों नवीन जिलों के गठन के संबंध में छत्तीसगढ़ राजपत्र में 20 अक्टूबर को प्रकाशित की गई सूचना
 नवीन जिलों के प्रस्तावित स्वरूप और सीमाओं के संबंध में आपत्तियां और सुझाव सूचना के प्रकाशन के दिनांक से 60 दिनों की अवधि में किए गए आमंत्रित

रायपुर ।

असल बात न्यूज।।

 राज्य शासन द्वारा तीन नये जिलों ’मोहला-मानपुर-अम्बागढ़-चौकी’, ’सक्ती’ और ’सारंगढ़-बिलाईगढ़’ के गठन की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। तीनों नए जिलों के संबंध में सूचना का प्रकाशन छत्तीसगढ़ राजपत्र में 20 अक्टूबर 2021 को कर दिया गया है। राजपत्र में प्रकाशित सूचना के अनुसार नये जिलों के संबंध में सूचना के प्रकाशन के दिनांक से 60 दिवस के भीतर प्रस्ताव पर आपत्तियां या सुझाव दिए जा सकते हैं।

तीनों नए जिले के संबंध में आपत्तियां या सुझाव, लिखित में, सचिव, छत्तीसगढ़ शासन, राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग, मंत्रालय, महानदी भवन, केपिटल कॉम्पलेक्स, नवा रायपुर अटल नगर जिला रायपुर को उक्त समयावधि की समाप्ति के पूर्व अग्रेषित किया जा सकता है।
नवीन जिला ’मोहला-मानपुर-अम्बागढ़-चौकी’ के गठन के संबंध में राजपत्र में प्रकाशित सूचना की अनुसूची के अनुसार दुर्ग संभाग के राजनांदगांव जिले की सीमाओं को परिवर्तित करना, नये जिले ’मोहला-मानपुर-अम्बागढ़-चौकी’ का सृजन करना तथा उनकी सीमाओं को परिभाषित करना प्रस्तावित किया गया है। अनुसूची के अनुसार नवीन जिला ’मोहला-मानपुर-अम्बागढ़-चौकी’ के गठन के लिए परिवर्तन का स्वरूप जिला राजनांदगांव के उपखंड मोहला एवं मानपुर तथा तहसील मोहला, मानपुर एवं अम्बागढ़ चौकी को समाविष्ट कर नवीन जिला ’’मोहला-मानपुर-अम्बागढ़-चौकी’ का सृजन प्रस्तावित किया गया है। प्रकाशित सूचना के अनुसार इस नवीन जिले की सीमाएं- उत्तर-तहसील छुरिया जिला राजनांदगांव, दक्षिण सीमा-तहसील दुर्गकोंदल एवं पंखाजुर, जिला उत्तर बस्तर कांकेर, पूर्व सीमा-तहसील डौण्डी एवं डौण्डी-लोहारा जिला बालोद, पश्चिम सीमा- महाराष्ट्र राज्य की सीमा प्रस्तावित की गई है।
नवीन जिला ’सक्ती’ के गठन के संबंध में राजपत्र में प्रकाशित सूचना की अनुसूची के अनुसार बिलासपुर संभाग के जिला जांजगीर-चाम्पा की सीमाओं को परिवर्तित करना, नवीन जिला ’सक्ती’ का सृजन करना तथा उनकी सीमाओं को परिभाषित करना प्रस्तावित किया गया है। अनुसूची के अनुसार नवीन जिला सक्ती के गठन के संबंध में परिवर्तन का स्वरूप जिला जांजगीर-चाम्पा के उपखंड सक्ती एवं डभरा तथा तहसील सक्ती, मालखरौदा, जैजैपुर, नया बाराद्वार तथा डभरा को समाविष्ट कर नवीन जिला सक्ती का सृजन प्रस्तावित किया गया है। इस नवीन जिले की सीमाएं उत्तर- तहसील करतला, जिला कोरबा, दक्षिण सीमा-तहसील सारंगढ़, जिला रायगढ़, पूर्व सीमा- तहसील खरसिया एवं रायगढ़ जिला रायगढ़, पश्चिम सीमा-तहसील सारागांव एवं बम्हनीडीह, जिला जांजगीर-चाम्पा प्रस्तावित की गई है।
इसी प्रकार नवीन जिला ’सारंगढ़-बिलाईगढ़’ के गठन के संबंध में राजपत्र में प्रकाशित सूचना की अनुसूची के अनुसार बिलासपुर संभाग के जिला रायगढ़ एवं बलौदाबाजार-भाटापारा की सीमाओं को परिवर्तित करना, नवीन जिला ’सारंगढ़-बिलाईगढ़’ का सृजन करना तथा उनकी सीमाओं को परिभाषित करना प्रस्तावित किया गया है। नवीन जिला ’सारंगढ़-बिलाईगढ़’ के गठन के परिवर्तन का स्वरूप जिला रायगढ़ के उपखंड सारंगढ़, तहसील सारंगढ़ एवं बरमकेला तथा जिला बलौदाबाजार-भाटापारा के उपखंड बिलाईगढ़ तथा तहसील बिलाईगढ़ को समाविष्ट करते हुए नवीन जिला ’सारंगढ़-बिलाईगढ’़ का सृजन प्रस्तावित किया गया है। इस नवीन जिले की सीमाएं उत्तर-तहसील पुसौर जिला रायगढ़ तथा तहसील डभरा, जिला जांजगीर-चाम्पा, दक्षिण सीमा-तहसील सरायपाली, जिला महासमुंद, पूर्व सीमा-तहसील अम्बाभौना, जिला बरगढ़ (उड़िसा), पश्चिम सीमा-तहसील कसडोल, जिला बलौदाबाजार-भाटापारा प्रस्तावित की गई है।