देश के सभी वाहन 100% एथेनॉल से चलने चाहिए: नितिन गडकरी

 


केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री ने आज महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले में 4,075 करोड़ रुपये के 527 किलोमीटर लंबे राष्ट्रीय राजमार्ग का उद्घाटन किया

अहमदनगर/मुंबई ।
असल बात न्यूज़।


केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी ने महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले में 4,075 करोड़ रुपये की कुल 527 किलोमीटर लंबी राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का उद्घाटन किया। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) के द्वारा अहमदनगर के केदगांव में आयोजित इस कार्यक्रम में श्री गडकरी ने कहा कि एथेनॉल उत्पादन से देश का ईंधन बचाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि ब्राजील की तर्ज पर बिजली और एथेनॉल से वाहन चलाने की जरूरत है। 

श्री गडकरी ने कहा, देश के विकास के लिए पानी, बिजली, परिवहन और संचार महत्वपूर्ण पहलू हैं। उन्होंने कहा कि देश में गरीबी, भूख और बेरोजगारी को मिटाने के साथ-साथ ग्रामीणों, गरीबों, मजदूरों और किसानों के कल्याण के लिए इन क्षेत्रों में अधिक से अधिक रोजगार सृजित किए जाने चाहिए।

इस अवसर पर श्री गडकरी ने चीनी को एथेनॉल में परिवर्तित करने के महत्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा उन्होंने कहा, "हमारे देश ने पिछले साल 4.65 अरब लीटर एथेनॉल का उत्पादन किया था और हमें 16.5 अरब लीटर एथेनॉल की जरूरत है। इसलिए केंद्र सरकार उतना ही इथेनॉल लेगी, जितना उत्पादन किया जाएगा।" श्री गडकरी ने कहा, "इथेनॉल पेट्रोल की तुलना में एक बेहतर और सस्ता हरित ईंधन है। देश में सभी वाहनों को 100% इथेनॉल पर चलना चाहिए।"

मंत्री ने कहा, "हम अपने देश में 12 लाख करोड़ रुपये के कच्चे तेल और प्राकृतिक गैस का आयात कर रहे हैं। भारत सरकार ने इथेनॉल पंपों की अनुमति दी है। इसलिए, सभी चीनी मिलों को अपने क्षेत्र में इथेनॉल पंप शुरू करना चाहिए।" उन्होंने कहा कि देश को 240 लाख टन चीनी की जरूरत है, जबकि पिछले साल 310 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ था। 70 लाख टन की इस अतिरिक्त चीनी को एथेनॉल में बदला जाए, मंत्री ने कहा। उन्होंने यह भी कहा कि भारत सरकार बिजली खरीद समझौते की तरह पांच साल के लिए इथेनॉल खरीद समझौता करने के लिए तैयार है। "यदि निकट भविष्य में इथेनॉल का उत्पादन किया जाता है, तो आयात में कमी आएगी और किसानों को कच्चे तेल के आयात पर खर्च किए जा रहे 12 लाख करोड़ रुपये में से 5 लाख करोड़ रुपये की कमाई होगी। गन्ने की अच्छी कीमत मिलेगी और किसान अब गरीब नहीं रहेंगे।" 

मंत्री ने यह भी कहा कि केंद्र लॉजिस्टिक्स पार्क, औद्योगिक क्लस्टर और परिवहन शहर स्थापित करने के लिए तैयार है जहां राज्य सरकार द्वारा भूमि प्रदान की जाती है। उन्होंने कहा, पश्चिमी महाराष्ट्र में चीनी उद्योग और दूध उत्पादन के कारण विकास हुआ है।


इस अवसर पर सांसद (राज्य सभा) श्री शरद पवार, सांसद (शिरडी लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र) श्री सदाशिव लोखंडे, सांसद (अहमदनगर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र) डॉ. सुजय विखे पाटिल महाराष्ट्र और अहमदनगर के संरक्षक मंत्री श्री हसन मुश्रीफ सहित अन्य और सरकार में ग्रामीण विकास और श्रम मंत्री शामिल थे। .