मैराथन का जबर्दस्त उत्साह, महिलाएं भी जमकर दौड़ी

 

*-सीसीएफ, कलेक्टर और डीएफओ ने भी मैराथन में दौड़ लगाई

दुर्ग ।

असल बात न्यूज।।

  वन्यप्राणी सप्ताह के समापन के मौके पर दुर्ग वन मंण्डल ने मैराथन का आयोजन किया था। जिसमें प्रतिभागियों को 5 किमी और 10 किमी दोनों दूरी का विकल्प दिया गया था। मैराथन सेक्टर-9 के हास्पिटल चौक से  शुरू होकर सेक्टर-4 से वापस होते हुए, सेक्टर-9 पहुँच कर संपन्न हुई। आयोजन में लगभग 300 प्रतिभागियों ने अपना रजिस्ट्रेशन करवाया, जिसमे 90 महिला प्रतिभागियों ने भी हिस्सा लिया। हरी झंडी दिखाकर दौड़ की शुरुआत की गई। दौड़ में सभी प्रतिभागियों ने जोश के साथ दौड़ लगाई। आयोजन में सभी उम्र के प्रतिभागी शामिल थे। सभी प्रतिभागियों को विभाग के द्वारा ई-सर्टिफिकेट प्रदाय किया जाएगा। 

सीसीएफ श्रीमती शालिनी रैना ने पुरूष धावकों के साथ महिलाओं की उपस्थिति पर प्रशंसा  जाहिर की। उन्होंने आगे कहा कि प्रकृति में मानव, पर्यावरण और वन्यजीव एक-दूसरे से किसी न किसी रूप में जुड़े हुए हैं। मानव शरीर व मस्तिष्क को स्वस्थ रखने, शुद्ध ऊर्जा प्राप्त करने के लिए पर्यावरण को शुद्ध व साफ सुथरा रखना बेहद जरूरी है। पर्यावरण को शुद्ध व साफ-सुथरा रखने के लिए वन व वन्यजीवों की सुरक्षा जरूरी है।

मैराथन में कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे भी शामिल थे। उन्होंने कहा कि दौड़ का उद्देश्य वन्यप्राणियों की रक्षा करना, हम लोगों का कर्तव्य है साथ ही हमें पर्यावरण की संरक्षण के लिए हमेशा सजग रहने की जरूरत है। उन्होंने आशा जताई कि जिले में ऐसे आयोजन आगे भी किये जाएगें।

इस अवसर पर डीएफओ श्री धम्मशील गणवीर ने लोगों से अपील किया कि सुबह-सुबह दौड़ अवश्य लगायें। तभी आप स्वस्थ रहेंगे क्योंकि स्वस्थ जीवन के लिए यह अहम है। उन्होंने आगे कहा वन्य जीवों के परिवेश को सुरक्षित रखने और इनके संरक्षण के लिए जन सामान्य को जानकारी उपलब्ध करवाना वन्यप्राणी सप्ताह का उद्देश्य है। इसी के अंतर्गत आज मैराथन का अयोजन किया गया था। जिसमें जिले वासियों ने भाग लेकर अपने जागरूक होने का परिचय दिया।  

आयोजन में भाग लेने वाले प्रतिभागियों ने मैराथन दौड़ के लिए अपनी उत्सुकता प्रदर्शित की जिसमें प्रतिभागी विनीता पठानी का कहना था कि ऐसे आयोजन प्रतिवर्ष आयोजित किये जाने चाहिये क्योकि ये जागरूकता के साथ-साथ स्वास्थ्य के लिए भी हितकर है। प्रतिभागी अनिता यादव ने बताया कि बचपन से ही खेल में उनकी रूचि रही है और वर्तामन में भी वो अपने आप को फिट रखने के लिए रोज मॉर्निंग वॉक  करती है। जब उन्हें मैराथन के बारे में पता चला तो उन्होंने अपनी सहेलियों को भी इसके बारे में बताया और उन्हें भी प्रतिभागी के रूप में हिस्सा दिलवाया। इस अवसर पर एसपी श्री बीके मीणा एवं अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे।