सेंट थॉमस महाविद्यालय में नव प्रवेशित छात्रों का इंडक्शन कार्यक्रम संपन्न

 

भिलाई।

असल बात न्यूज़।।

सेंट थॉमस महाविद्यालय भिलाई में स्नातक एवं स्नातकोत्तर प्रथम वर्ष के नव प्रवेशित छात्रों का इंडक्शन कार्यक्रम  बहुत ही सौहाद्रपूर्ण वातावरण में संपन्न हुआ| इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कलकत्ता डायोसिस के मेट्रोपोलिटन एवं सेंट थॉमस महाविद्यालय भिलाई के मैनेजर बिशप डॉ जोसेफ मार डायनोशियस थे| इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप में हेमचंद यादव विश्वविद्यालय दुर्ग की कुलपति  डॉ अरुणा पल्टा भी उपस्थित थी|

 अपने व्यस्ततम कार्यक्रम के बाद भी  ऑनलाइन माध्यम से कार्यक्रम में जुड़कर  कुलपति डॉ अरुणा पल्टा ने महाविद्यालय के नव प्रवेशित छात्रों को बधाई देते हुए कहा कि आप सभी ने भिलाई के बहुत ही प्रतिष्ठित एवं सर्वसुविधायुक्त महाविद्यालय में प्रवेश लिया है| मुख्य अतिथि मैनेजर बिशप डॉ जोसेफ मार डायनोशियस ने सभी छात्रों का उत्साह बढ़ाते हुए कहा कि आपको सर्वप्रथम अपनी आकाँक्षाओं एवं कठिन परिश्रम के मध्य संतुलन बनाना होगा| जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए आपको कठिन परिश्रम के साथ योजना बद्ध तरीके से कार्य करना चाहिए| इस अवसर पर उन्होंने सेंट थॉमस महाविद्यालय का फेसबुक पेज भी लांच किया|

 महाविद्यालय के प्रशासक रेवरेंट फादर डॉ जोशी वर्गीस ने सभी छात्रों का आत्मीय स्वागत करते हुए कहा कि आज हम सभी कोरोना महामारी के बाद नई शुरुआत करने जा रहे हैं| उन्होंने सभी छात्रों को सफलतापूर्वक स्कूली शिक्षा पूर्ण करने के उपलक्ष्य में अपनी शुभकामनायें दी| कार्यक्रम के आरंभ में महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ एम जी रोईमोन ने सभी नव प्रवेशित छात्रों का स्वागत करते हुए कहा कि इस वर्ष परिस्थितियां सामान्य होने के कारण ऑफ़ लाइन एवं ऑनलाइन दोनों ही पद्धितियों से शैक्षणिक सत्र आरंभ किया जा रहा है| अंत में उन्होंने सभी छात्रों को तम्बाकू मुक्त कैंपस एवं नशा मुक्ति से संबंधित शपथ दिलाई|  कार्यक्रम का सीधा प्रसारण युट्यूब पर भी किया गया| कार्यक्रम का संचालन करते हुए प्रबंधन विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ सूसन अब्राहम ने वीडियो एवं प्रेजेंटेशन के माध्यम से महाविद्यालय के सभी विभागों एवं क्लबों की विस्तृत जानकारी दी।

 माइक्रोबायोलॉजी विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ वी. शांति ने धन्यवाद ज्ञापन दिया| इस कार्यक्रम के तकनीकी संचालक श्री माइकल फर्नेंडीज़ थे| इस अवसर पर महाविद्यालय के सभी विभागों के विभागाध्यक्ष, प्राध्यापकगण एवं अन्य कर्मचारी उपस्थित थे|