खंड एवं अल्प वर्षा के हालात में भी गिदला नाला के आसपास लहलहा रही फसल

 

रायपुर । असल बात न्यूज।


खंड और अल्प बारिश के हालात में धान की फसलों को बचाने के लिए छत्तीसगढ़ सरकार की नरवा संवर्धन एवं विकास योजना संजीवनी साबित हो रही हैं। बलौदाबाजार जिले के पलारी विकासखण्ड के गिदला नरवा में ग्राम कुची के समीप  चेकडैम निर्माण से 68 एकड़ खेतों में सिंचाई हो रही है। विपरीत परिस्थिति में  फसलों को समय पर पानी मिल जाने से अब हरी-भरी होकर लहलहा रहीं हैं।

 कृषि विभाग द्वारा इस नाले पर पिछले दो सालों में तीन चेकडैम बनाकर जरूरत के मुताबिक पानी रोका जा रहा है। इस साल खंड वर्षा की हालात में रोका गया पानी किसानों के लिए वरदान साबित हो रहा है। चेकडैम से न केवल कूची बल्कि हरीनभठ्ठा, खपरी और चमोरी ग्राम के लगभग 75 किसानों के खेतों को पानी मिल रहा है। विभिन्न स्थानों पर नरवा में  पांच सिंचाई पंप स्थापित कर किसान पानी लिफ्ट कराकर अपने खेतों में पाइप के जरिये ले जाकर सिंचाई कर रहे हैं।
 सिंचाई सुविधा का लाभ उठा रहे किसान - श्री शेषनारायण चन्द्रवंशी, श्री आलोक चन्द्रवंशी, श्री अभिषेक, श्री संतुराम, श्री खम्मन, श्री राजेश साहू, श्री गिरीश, श्री मनोहर आदि किसानों ने नरवा संवर्धन और विकास योजना को काफी उपयोगी और लाभप्रद बताया है। उन्होंने कहा कि चेकडैम निर्माण नहीं होने से पूरा पानी बहकर गांव से बाहर चला जाता था। किसान संकट आने पर आकाश की तरफ देखते रह जाते थे। नरवा को बांधकर चेकडैम बना देने से पानी यहां ठहरा हुआ है। किसान सिंचाई कर फसल बचाने में सफल हो सके हैं। धान की फसल कंसा और गभोट अवस्था में है और लहलहा रही है। फसलों की अच्छी हालत देखकर किसानों को काफी सुकून मिल रहा है। ग्राम के सरपंच श्री रवि साहू ने बताया कि पिछले साल इसी चेकडैम के पानी से रबी के मौसम में भी लगभग 30 एकड़ में फसल ली गई थी।