स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. टेकाम ने बिश्रामपुर में किया लाइफ लाइन एक्सप्रेस का निरीक्षण : मरीजों से पूछा हाल-चाल

 

शिविर में मरीजों को किया फल एवं नाश्ते का वितरण

ऑपरेशन करा चुके मरीजों की बस को हरी झंडी दिखाकर किया गया रवाना जिला प्रशासन के व्यवस्थाओं को सराहा

सूरजपुर।

असल बात न्यूज।।

जिले के रेलवे माल धक्का विश्रामपुर में चलते फिरते अस्पताल लाइफ लाइन एक्सप्रेस ट्रेन में आयोजित उपचार एवं सर्जरी शिविर में पहुंचे स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने शिविर स्थल का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने मोतियाबिंद का ऑपरेशन करा चुके मरीजों से मुलाकात कर उनका हालचाल जाना। इस दौरान उन्होंने मरीजों को फल एवं नाश्ते का वितरण कर उनके जल्द स्वस्थ होने की कामना की। निरीक्षण के दौरान कैबिनेट मंत्री ने डिस्चार्ज किये गए मरीजों की बस को हरी झंडी दिखाकर उनके घर के लिए रवाना किया।


     शिविर में ऑपरेशन करा चुके 76 मरीजों की विदाई के लिए शिविर स्थल पर आयोजित सकुशल स्वास्थ्य विदाई कार्यक्रम में मुख्य अतिथि स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने देश के इकलौते सर्व सुविधा युक्त चलते फिरते अस्पताल लाइफ लाइन एक्सप्रेस ट्रेन की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि यह जीवनदायिनी ट्रेन है। जिसकी शुरुआत सुदूरवर्ती क्षेत्रों में ग्रामीण मरीजों को चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करने जुलाई 1991 में भारत सरकार एवं इंपैक्ट इंडिया फाउंडेशन द्वारा की गई थी।


     उन्होंने कहा कि इस चलते-फिरते अस्पताल में आधुनिक उपकरणों के जरिए देश के नामी-गिरामी चिकित्सकों द्वारा मरीजों का उपचार एवं ऑपरेशन किया जाता है। जिससे लाखों लोग लाभान्वित हो चुके हैं और उनमें जीवन जीने की तमन्ना जागृत हुई है। हर्ष की बात हैं कि संभाग के निर्धन एवं जरूरतमंद मरीजों का निःशुल्क उपचार करने विश्रामपुर में इस जीवनदायिनी ट्रेन का चौथी बार आगमन हुआ है। उन्होंने शिविर स्थल पर मरीजों समेत उनके परिजनों के लिए लाने, ले जाने से लेकर आवास एवं सुचारू भोजन व्यवस्था के लिए कलेक्टर डॉ. गौरव कुमार सिंह एवं जिला पंचायत सीईओ श्री राहुल देव सहित जिला प्रशासन समस्त अधिकारियों, कर्मचारियों के कुशल प्रबंधन की सराहना की।
       उन्होंने कहा कि इन दोनों युवा अधिकारियों के अथक मेहनत से ही व्यवस्थित रूप से शिविर का संचालन हो रहा है और मरीजों को इसका लाभ मिल रहा है। जिला प्रशासन इस बात के लिए भी बधाई का पात्र हैं कि उसने मरीजों को दूरस्थ अंचलों से लाकर उपचार कराने के बाद उन्हें सकुशल उनके घर तक पहुंचाने की उत्कृष्ट व्यवस्था की है।
      कार्यक्रम में कलेक्टर द्वारा मुख्य अतिथि कैबिनेट मंत्री डॉ. टेकाम समेत अतिथियों को साहित्यिक पुस्तक भेंट कर उनका अभिनंदन किया। वही कार्यक्रम के अंत में प्रथम चरण में ऑपरेशन करा चुके 76 मरीजों को उनके घर तक सकुशल पहुंचाने के लिए तीन बसों को कैबिनेट मंत्री ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।
शिविर स्थल का मंत्री ने किया निरीक्षण...
      स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने जनप्रतिनिधियों समेत कलेक्टर एवं तमाम आला अफसरों के साथ शिविर स्थल का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने अस्थाई वार्ड में भर्ती नेत्र का ऑपरेशन करा चुके मरीजों से बातचीत कर उनका हालचाल जाना और उनके जल्द स्वस्थ होने की कामना की है। इसके साथ ही मंत्री एवं जनप्रतिनिधियों ने मरीजों को फल एवं नाश्ता का वितरण किया।
     कलेक्टर डॉ. गौरव कुमार सिंह ने व्यवस्था की जानकारी देते हुए कैबिनेट मंत्री को बताया कि ऑपरेशन कराने के बाद वापस घर लौटने वाले मरीजों को प्रशासन द्वारा मुहैया कराए गए चादर, कंबल, टॉवल, तकिया कवर एवं स्वच्छता कीट साथ ले जाने की व्यवस्था की है।