जिला स्तरीय सतर्कता एवं मानीटरिंग समिति की बैठक संपन्न

 

दुर्ग ।

असल बात न्यूज।।

अनुसूचित जाति, जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के क्रियान्वयन, उपयोग तथा पीड़ितों को इसका लाभ दिलाने के कार्यों की समीक्षा के लिए  जिला स्तरीय सतर्कता एवं मानिटरिंग समिति की बैंठक एडीएम श्रीमती नूपुर राशि पन्ना की अध्यक्षता में संपन्न हुई। अधिनियम के अधीन राहत के प्रकरणों समेत अन्य प्रकरणों की समीक्षा की गई। मीटिंग में पूर्व  की कार्यवाही पर चर्चा की गई और अनुसूचित जाति/जनजाति कल्याण पुलिस विभाग द्वारा दर्ज प्रकरण पर कार्यवाही, विशेष लोक अभियोजक एवं अभियोजन द्वारा न्यायालय में प्रस्तुत अनुसूचित जाति, जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के दर्ज एवं निराकृत प्रकरणों के संबंध में जानकारी दी गई।

 एडीएम द्वारा न्यायालय में प्रस्तुत प्रकरण में शीघ्र सुनवाई हेतु अभियोजक को पूछे जाने पर अभियोजन द्वारा बताया गया कि कोविड-19 के संक्रमण समया में प्रकरणों का न्यायालय द्वारा सुनवाई/कार्यवाही लंबित था। अतिआवश्यक प्रकरणों को प्राथमिकता के आधार पर न्यायालय द्वारा सुनवाई किए जाने तथा शेष अन्य प्रकरणों को सूचीबद्ध करते हुए निराकरण करने हेतु न्यायालय से अनुरोध करने की जानकारी दी।

बैठक में सहायक आयुक्त आदिवासी विकास श्रीमती प्रियंवदा रामटेके, डीएसपी श्री अभिषेक कुमार झा, जनप्रतिनिधि और अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।