स्वरूपानंद महाविद्यालय में अंतर्राष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस पर अलोकतंत्र शासन पर लोकतंत्र का महत्व पर भाषण प्रतियोगिता का आयोजन

 

भिलाई।

असल बात न्यूज़।।

स्वरूपानंद महाविद्यालय के हेल्दी प्रैक्टिस सेल द्वारा अंतर्राष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस पर  अलोकतंत्र शासन पर लोकतंत्र का महत्व विषय पर अंतरमहाविद्यालयीन भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें विद्यार्थियों को दो मिनट का वीडियो बनाकर भेजना था इस प्रतियोगिता में विभिन्न महाविद्यालय के विद्यार्थियों ने अपनी प्रतिभागिता दर्ज कराई। कार्यक्रम के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुए संयोजिका डॉ रचना  पांडे ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस मनाने का उद्देश्य उन लोगों को भी जागरूक करना है जहां भी तक लोकतांत्रिक सरकार नहीं हैं वहां पर अभी राजतंत्र है अर्थात राजा की सरकार जो जनता द्वारा नहीं चुने जाते हैं। विद्यार्थियों में इस विषय में जागरूकता लाने हेतु यह प्रतियोगिता आयोजित की गई।

 महाविद्यालय के सीओओ डॉ दीपक शर्मा ने  विद्यार्थियों को बधाई देते हुए कहा कि हम सभी भाग्यशाली हैं कि लोकतांत्रिक देश में रहते हैं जहां जनता के द्वारा और जनता के हित में कार्य किया जाता है।

महाविद्यालय कि प्राचार्य डॉ हंसा शुक्ला ने कहा कि लोकतंत्र के अंतरराष्ट्रीय दिवस का मुख्य महत्व विद्यार्थियों को यह जानकारी होना है कि वह लोकतंत्र के मानव अधिकारों का सम्मान करने के लिए एवं लोकतंत्र में सार्थक भागीदारी प्रदान करने को समझ सके ।

उप प्राचार्य व विभागाध्यक्ष डॉ अजरा हुसैन ने कहा कि युवाओं को लोकतंत्र से जोड़ना एवं लोकतंत्र और सतत विकास लिए इस तरह के कार्यक्रम बहुत जरूरी है 

प्रतिभागियों ने अपने विचारो में लोकतंत्र का अर्थ और उसका महत्व के बारे में जानकारी दी एवं अलोकतंत्र  शासन प्रशासन इस तरह के शासन होते हैं शासन में सभी को समान अधिकार प्राप्त नहीं होते और ना ही वह जनता के लिए जवाबदेही होते है  लोकतंत्र शासन में जनता हमेशा चुनती हैं एवं सभी को सामान अधिकार प्राप्त होता है लोकतंत्र शासन में है सभी को समान अधिकार है सभी महिलाएं पुरुषों की तरह ही उनके बराबर चल सकती हैं पढ़ाई कर सकती है हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही है सभी को अपने-अपने धर्म का पालन करने का अधिकार है जबकि अलोकतंत्र प्रदेश में जनता अपने विचार व्यक्त नहीं कर सकती|

निर्णायक डॉ संजय शर्मा , विभागाध्यक्ष गणित विभाग, भिलाई इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, दुर्ग के निर्णय अनुसार इस प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार संप्रीति बनर्जी , एम एस सी चतुर्थ सेमेस्टर, भिलाई महिला महाविद्यालय रही ,द्वितीय  विशाखा खंडेलवाल , बीएड तृतीय सेमेस्टर ,स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय ,तृतीय श्रीमती किरण चतुर्वेदी  एम एड तृतीय सेमेस्टर, स्वरूपानंद महाविद्यालय रहे।