यातायात नियंत्रित करने सहारा बना ,'पुराना पुल'


 रायपुर। असल बात न्यूज।

खारुन नदी के जिस पुराने पुल से यात्रियों को आने-जाने के लिए मना किया जाता रहा है अब वही पुल यातायात को नियंत्रित करने में सहारा बन रहा है। कुम्हारी में ओवरब्रिज बनने के चलते सड़क संकरी हो गई है और वाहनों की आवाजाही बढ़ने पर अक्सर जाम लगने लगता है। Traffic police के द्वारा ऐसे कठिन समय में यातायात को नियंत्रित करने पुराने पुल का सहारा लिया जा रहा है।रूट को उस रास्ते पर डाइवर्ट कर यातायात को नियंत्रित करने की कोशिश की जा रही है। 

कुम्हारी में जी रोड पर जिस स्थल पर ओवर ब्रिज बन रहा है वहां रास्ता दोनों तरफ अत्यंत सकरा हो गया है। भीड़ बढ़ने पर यहां हमेशा जाम की स्थिति बनने लगी है। यह कोलकाता मुंबई  को जोड़ने वाला मार्ग है तो स्वाभाविक तौर पर यहां हर घंटे वाहनों की आवाजाही काफी अधिक रहती है। लंबी दूरी के वाहनो का चौबीसों घंटे यहां से आना जाना लगा रहता है। वही ड्यूटी से आने और जाने के समय इस मार्ग पर यातायात का दबाव और बढ़ जाता है। ऐसे में यातायात को नियंत्रित करना वास्तव में बड़ी चुनौती बन गई है। 

यह मार्ग राजधानी रायपुर को दुर्ग से जोड़ने वाला भी है,  जिससे VIP लोगों का भी अक्सर इससे आना जाना लगा रहता है। तब जाम लगने पर दिक्कतें और बढ़ जाती है।

बताया जाता है कि सुबह 10:00 से 12:00 के बीच और शाम को 4:00 से 8:00 के बीच जब इस मार्ग पर ज्यादा का दबाव पीक पर होता है उस दौरान इस समस्या को हल करने के लिए खारुन नदी के पुराने पुल के इस्तेमाल का रास्ता खोजा गया है। ऐसे में हमेशा सुनसान रहने वाला यह मार्ग भी अब आबाद नजर दिख रहा  है।

नीचे पिक्चर में देख सकते हैं कि यहां जी ई रोड पर कितनी भीड़ होती है और जाम लग जाता है।