भिलाई इस्पात संयंत्र के क्वार्टरों में कब्जा करने वालों और अन्य कब्जे धारियों को हटाने की कार्रवाई की जाएगी तेज

 भिलाई।

असल बात न्यूज़।।

भिलाई इस्पात संयंत्र के क्वार्टरों में हुए अवैध कब्जों तथा अन्य स्लो पर हो रहे अतिक्रमण को हटाने की कार्रवाई तेज की जाएगी। संयंत्र के क्वार्टर और भूमि का लाभकारी सदुपयोग करने नए प्रबंध किए जाएंगे।स्टील सीपीएसई के साथ सेल और अन्य स्टील सीपीएसई के एकीकृत इस्पात संयंत्रों के भूमि संबंधी मामलों की समीक्षा  बैठक में इस पर निर्णय लिया गया है। यह कदम उठाए जाने के बाद अतिक्रमणकारियों में हड़कंप मच सकती है।

यह समीक्षा बैठक केंद्रीय इस्पात मंत्री श्री राम चंद्र प्रसाद सिंह की अध्यक्षता में हुई जिसमें  स्टील सीपीएसई के सीएमडी उपस्थित थे।  मंत्री श्री सिंह ने स्टील सीपीएसई के पास उपलब्ध भूमि  भविष्य की परियोजनाओं/संयंत्रों और खदानों के विस्तार के लिए उपलब्ध भूमि, अतिक्रमण के तहत भूमि, फ्री होल्ड या लीज होल्ड की स्थिति, भूमि उपयोग आदि मामलों  की समीक्षा की।बैठक में इस्पात और ग्रामीण विकास राज्य मंत्री श्री फग्गन सिंह कुलस्ते और सचिव, इस्पात श्री प्रदीप कुमार त्रिपाठी  भी मौजूद थे।

इस्पात मंत्री को स्टील सीपीएसई द्वारा उनकी भूमि और क्वार्टरों से अतिक्रमणों और अनधिकृत कब्जाधारियों को हटाने के लिए की गई कार्रवाई से अवगत कराया गया। श्री राम चंद्र प्रसाद सिंह ने स्टील सीपीएसई को अतिक्रमण हटाने के लिए कार्रवाई में तेजी लाने का निर्देश दिया ताकि स्टील सीपीएसई द्वारा भूमि और क्वार्टरों का लाभकारी उपयोग किया जा सके। उन्होंने आगे उन्हें यह सुनिश्चित करने के लिए कहा कि राज्य सरकारों के संबंधित विभागों के परामर्श से संयंत्रों में असंक्रमित भूमि को सीपीएसई के नाम पर तत्काल परिवर्तित कर दिया जाए। श्री राम चंद्र प्रसाद सिंह ने इस बात पर जोर दिया कि स्टील सीपीएसई के सभी भूमि अभिलेखों को डिजिटल रूप दिया जाना चाहिए और सुरक्षित अभिरक्षा में रखा जाना चाहिए। उन्होंने भविष्य की जरूरतों के लिए सीपीएसई के पास उपलब्ध सभी भूमि के विवेकपूर्ण उपयोग के महत्व को रेखांकित किया।