अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचे शासन की योजनाओं की जानकारी: जनसम्पर्क आयुक्त डॉ. भारतीदासन

 

जनसंपर्क आयुक्त ने संचालनालय और जिला जनसंपर्क अधिकारियों की ली बैठक

रायपुर । असल बात न्यूज।

जनसम्पर्क विभाग के आयुक्त डॉ. एस. भारतीदासन ने  यहां मंत्रालय महानदी भवन से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जनसम्पर्क संचालनालय एवं जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक लेकर विभागीय काम-काज की स्थिति की गहन समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों को छत्तीसगढ़ शासन की योजनाओं एवं कार्यक्रमों की जानकारी आम जनता तक पहुंचाने के लिए जनसंचार के सभी माध्यमों का प्रभावी उपयोग करने के निर्देश दिए।

 डॉ. भारतीदासन ने अधिकारियों से कहा कि शासन की योजनाओं एवं कार्यक्रमों से लोगों के जीवन स्तर में आए बदलाव और उन्हें मिली सहूलियतों के बारे में लेख, सफलता की कहानी नियमित रूप से जारी किया जाना चाहिए ताकि अन्य लोग भी इससे प्रेरित होकर शासन की योजनाओं का लाभ उठाने के लिए आगे आएं और तरक्की की ओर अग्रसर हों। उन्होंने जिला स्तरीय अधिकारियों को सोशल मीडिया प्लेटफार्म का भी ज्यादा से ज्यादा उपयोग करने के निर्देश दिए।  

     आयुक्त डॉ. भारतीदासन ने जिला स्तरीय अधिकारियों को जनता के हित से जुड़े मुद्दों, विशेषकर स्वास्थ्य, शिक्षा, स्वरोजगार, आजीविका आदि विषयों को प्रमुखता से समाचार व आलेख जारी करने के निर्देश दिए। जनसम्पर्क अधिकारियों को समय एवं परिस्थिति के अनुसार लेखन के विषयों का निर्धारण करने और जन-जागरूकता के लिए इसे व्यापक रूप से प्रचारित करने के निर्देश दिए गए। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के दौरान इससे बचने के उपाय एवं प्रोटोकॉल के बारे में जिस तरह से जन-जागरूकता के लिए प्रचार अभियान संचालित किया गया, उसी तरह मौसमी एवं जल जनित बीमारियों से बचाव के लिए भी विशेषज्ञ चिकित्सकों की सलाह एवं वीडियो क्लीपिंग के माध्यम से जन-जागरूकता सुनिश्चित की जानी चाहिए।  

    आयुक्त डॉ. भारतीदासन ने छत्तीसगढ़ शासन की फ्लैगशिप योजनाओं में शामिल नरवा, गरूवा, घुरवा, बाड़ी योजना के तहत गांवों के गौठानों में संचालित गतिविधियों, आजीविका के विकसित होते साधनों, नरवा के उपचार से भूजल संवर्धन एवं किसानों को हो रहे लाभ के संबंध में आलेख एवं समाचार नियमित रूप से जारी करने को कहा। उन्होंने अधिकारियों को जिले के ग्रामीण अंचल का दौरा करने और शासकीय योजनाओं एवं कार्यक्रमों से लोगों को हो रहे लाभ का डाक्यूमेंटेशन भी करने के निर्देश दिए। डॉ. भारतीदासन ने बैठक के दौरान एक-एक कर जिला स्तरीय अधिकारियों से उनके द्वारा संपादित कार्यों की जानकारी ली। इस अवसर पर विभाग के अपर संचालक श्री जे.एल. दरियो, श्री उमेश मिश्रा, संयुक्त संचालक श्री आलोक देव, श्री संजीव तिवारी सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।