विश्व ओजोन दिवस पर विविध आयोजन

 

भिलाई।

असल बात न्यूज़।।

स्वामी श्री स्वरूपानंद महाविद्यालय के शिक्षा विभाग द्वारा सोलह सितंबर विश्व ओजोन परत संरक्षण दिवस के अवसर पर पोस्टर एवं भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें महाविद्यालय के समस्त विभाग के विद्यार्थियों ने अपनी सहभागिता दी| 

विद्यार्थियों ने ओजोन परत के संरक्षण के लिए अपने विचारों को पोस्टर एवं दो मिनट के वीडियो के माध्यम से व्यक्त किया किरण चतुर्वेदी ने बताया कि सबसे पहले अंतर्राष्ट्रीय ओजोन दिवस का  उद्देश्य यह है कि हम सभी को अपने पर्यावरण के लिए जागरूक होना होगा इसकी सुरक्षा के लिए सोचना पड़ेगा। साथ ही पर्यावरण के संरक्षण व वृक्षारोपण द्वारा ही पर्यावरण में ऑक्सीजन के स्तर को बढ़ाकर ओजोन परत को सुरक्षित रख सकते हैं|

संयोजिका श्रीमती उषा साहू ने ओजोन दिवस के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि पर्यावरण को सुरक्षित व वृक्षारोपण के द्वारा ही हम ओजोन परत को सुरक्षित रख सकते हैं क्योंकि सूर्य से निकलने वाली पराबैंगनी विकिरण से ओजोन परत ही पृथ्वी की सुरक्षा करती है |

महाविद्यालय के सी ओ ओ डॉ दीपक शर्मा ने कार्यक्रम की सराहना करते हुए कहा कि विद्यार्थियों में पर्यावरण जागरूकता का होना अत्यंत आवश्यक है|

महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ हंसा शुक्ला ने  विषय पर प्रकाश डालते हुए  कहा कि ओजोन परत का संरक्षण इसलिए आवश्यक है कि यह हानिकारक पराबैंगनी विकिरण से बचाती है  एवं ओजोन परत के क्षरण से मनुष्य की रोग प्रतिरोधक क्षमता में कमी के कारण संक्रामक बीमारियों में बढ़ोतरी, त्वचा कैंसर, आंखों के रोग, पौधों में जैविक प्रक्रिया पर दुष्प्रभाव पड़ता है|

उप प्राचार्य एवं विभागाध्यक्ष डॉ.अजरा हुसैन ने कहा कि इस तरह के कार्यक्रम वर्तमान समय में विद्यार्थियों के लिए अत्यंत आवश्यक है क्योंकि पर्यावरण संरक्षण के बारे में उनको जानकारी होनी चाहिए जिससे वह अपने आस-पास के लोगों को भी जागरूक कर सके| 

 निर्णायक डॉ भावना पांडे विभागाध्यक्ष बायोटेक्नोलॉजी , महिला महाविद्यालय के निर्णय के अनुसार पोस्टर प्रतियोगिता में प्रथम स्थान- शीतल साहू बीएससी तृतीय वर्ष बायो टेक्नोलॉजी ,द्वितीय स्थान- सुजाता पाल बी एड तृतीय सेमेस्टर, तृतीय स्थान- रिफत बानो एवं रेनुका बड्वाईक बी.एड तृतीय सेमेस्टर रही |

भाषण प्रतियोगिता में प्रथम स्थान- श्यामसुंदर पटनायक एम. एड तृतीय सेमेस्टर, द्वितीय स्थान- किरण चतुर्वेदी एम. एड तृतीय सेमेस्टर, तृतीय स्थान- सुजाता पाल बी एड तृतीय सेमेस्टर रही|