पूर्व के रमन सरकार में सैकड़ों मंदिर टूटा, धर्मांतरण होता रहा, अब सत्ता जाते ही भाजपा को फिर धर्मांतरण की याद आयी

 

आरएसएस भाजपा का धर्मांतरण का राग अलाप सत्ता प्राप्ति के लि

भाजपा सत्ता से बेदखल होने के बाद धर्मांतरण का राग अलापती है और सत्ता में रहते है तो हिंदुओ के ही मकान दुकान तोड़ती है



रायपुर। 

 कांग्रेस ने आरएसएस भाजपा पर धर्मांतरण के नाम से झूठ और अफवाह  राजनीति कर प्रदेश के शांत माहौल को खराब करने का षड्यंत्र करने का आरोप लगाते हुये तीखा प्रहार किया। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि प्रदेश में दबावपूर्वक धर्मांतरण का आरोप लगाने से पहले आरएसएस भाजपा को रमन सरकार के 15 साल के कार्यकाल को याद करना चाहिए जिस दौरान हजारों की संख्या में धर्मांतरण हुये। बिना सोचे समझे मात्र वाहवाही लूटने और कमीशनखोरी भ्रष्टाचार करने के लिये प्रदेश भर में विकास कार्यो के नाम से रमन सिंह सरकार में तेलीबांधा तालाब के किनारे प्राचीन मौलीमाता मंदिर सहित प्रदेश में सैंकड़ो हिन्दू देवी देवताओं के प्राचीन मंदिर को तोड़ा गया। हजारों हिंदुओ के मकान और दुकान को ढहाया गया। उस दौरान आरएसएस भाजपा सत्ता की मलाई चाटने में व्यस्त थी और आज जब सत्ता विमुख हो गई है तब इन्हें सत्ता प्राप्ति के लिए धर्म और धर्मांतरण की याद आ रही है। छत्तीसगढ़ में 15 साल तक भाजपा की सरकार रही और बीते सात साल से केंद्र में मोदी सरकार है लेकिन धर्मान्तरण रोकने कोई ठोस उपाय इनके द्वारा अभी तक नही किया गया है।



प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार ने जोर जबरदस्ती दबावपूर्वक भयभीत कर, डरा धमका कर और लालच देकर धर्म परिवर्तन कराने वालों के ऊपर सख्त एवं कड़ी कार्यवाही करने का निर्देश दिया है। छत्तीसगढ़ में सविधान से कोई ऊपर नही है सभी के सवैधानिक अधिकार की रक्षा राज्य सरकार कर रही है। सविधान विपरीत कार्य करने वालो को बख्शा नही जाएगा। भाजपा धर्म परिवर्तन करने का झूठा आरोप लगाकर सिर्फ राजनीति कर रही है। भाजपा नेताओं से धर्म परिवर्तन करने वालों की सूची मांगो तब इनकी बोलती बंद हो जाती है और भाजपा के झूठ का पर्दाफाश हो जाता है। धर्म परिवर्तन को रोकने के लिए कांग्रेस शासनकाल में ही कड़े और सख्त कानून का निर्माण हुआ है और इस पर कार्यवाही भी की गई है।



प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि भाजपा नेताओं को छत्तीसगढ़ की जनता को बताना चाहिए 15 साल के रमन शासनकाल में हिंदुओ के जीवन स्तर सुधारने उनके शिक्षा दीक्षा, रोजगार, के लिए क्या काम किया गया? आरएसएस भाजपा ने हिंदुओ को एटीएम की तरह इस्तेमाल किया सिर्फ चंदा लेने और वोट लेने तक हिंदुत्व की बाते करते है। भाजपा बताये पूर्व के रमन सरकार में एवं  वर्तमान में मोदी सरकार ने धर्म परिवर्तन को रोकने के लिए क्या उपाय किया ? गैर कानूनी तरीके से धर्मांतरण कराने वाले कितने लोगों पर कानूनी कार्यवाही की ?रमन सरकार ने विकास कार्यों के नाम से  देवी देवताओं के सैकडो प्राचीन मंदिरों और हिंदुओं के मकान दुकान को तोड़ा तब आर एस एस और भाजपा मौन क्यों थी?