सेंट थॉमस महाविद्यालय में अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस आयोजित

 

भिलाई। असल बात न्यूज।।

सेंट थॉमस महाविद्यालय के आईक्यूएसी विभाग एवं राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के संयुक्त तत्वावधान में ऑनलाइन माध्यम से अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस का आयोजन किया गया| इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि हेमचंद यादव विश्वविद्यालय के राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम समन्वयक डॉ आर. पी. अग्रवाल थे| विशिष्ट अतिथि  के रूप में राष्ट्रीय सेवा योजना दुर्ग जिला के जिला संगठक डॉ विनय शर्मा भी उपस्थित  थे|

कार्यक्रम में सर्वप्रथम सेंट थॉमस महाविद्यालय के आईक्यूएसी विभाग की संयोजक  डॉ  देबजानी  मुख़र्जी ने अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस का  संक्षिप्त परिचय दिया एवं  मुख्य अतिथि डॉ आर. पी. अग्रवाल का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि आज हम सभी को समय के साथ शिक्षा के क्षेत्र में होने वाले नवाचार एवं परिवर्तनों के अनुसार स्वयं को तैयार करना आवश्यक है| राष्ट्रीय सेवा योजना दुर्ग जिला के जिला संगठक डॉ विनय शर्मा ने कहा कि आज़ादी  के बाद से लेकर आज तक देश में निरतंर शिक्षा के क्षेत्र में नयी नयी तकनीकों  का विकास हुआ है एवं विशेष  रूप से कोरोना की महामारी के इस दौर में पठन-पाठन का स्वरूप ही बदल गया है उन्होंने सब पढ़े सब बढ़े के मुहावरे को वास्तविक रूप से चरितार्थ करने की बात कही| मुख्य अतिथि डॉ. आर. पी. अग्रवाल ने सभी प्रतिभागियों का उत्साह बढ़ाया एवं महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ एम. जी. रोईमोन की सराहना करते हुए  कहा प्राचार्य महोदय आरंभ में स्वयं राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम अधिकारी के रूप में उत्कृष्ट कार्य कर चुके हैं एवं आज के दिन सेंट थॉमस महाविद्यालय द्वारा अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस का आयोजन अपने आप में एक सराहनीय प्रयास है| सन 1969 में देशव्यापी स्तर पर राष्ट्रीय सेवा योजना का प्रादुर्भाव हुआ एवं तब से लेकर आज तक निरतंर लाखों स्वयंसेवक साक्षरता का प्रचार प्रसार करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं| डॉ अग्रवाल ने राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के गौरवशाली प्रदर्शन के लिए सेंट थॉमस महाविद्यालय की सराहना की।

इस अवसर पर महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ एम. जी. रोईमोन, अन्य प्राध्यापकगण एवं एनसीसी कैडेट्स एवं एनएसएस के कुल 70 स्वयंसेवक उपस्थित थे| कार्यक्रम का संचालन एवं धन्यवाद ज्ञापन महाविद्यालय के राष्ट्रीय सेवा योजना  कार्यक्रम अधिकारी महेंद्र इखार ने किया|