पीडब्ल्यूडी सेक्रेटरी ने कहा तय समय सीमा पर आरंभ कराएं ओवरब्रिज, लापरवाही पर होगी कड़ी कार्रवाई

 

*- एनएच के गड्ढों की लगातार मॉनिटरिंग कर ठीक किए जाने के लिए निर्देश

दुर्ग ।

 असल बात न्यूज।।

एनएचएवं पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों की आज प्रभारी सचिव एवं पीडब्ल्यूडी सचिव श्री सिद्धार्थ कोमल परदेशी ने बैठक ली। बैठक में एनएच की सड़क के साथ ही  जिले में चल रहे अन्य निर्माण कार्यों की समीक्षा की। बैठक में प्रभारी सचिव ने कहा कि एनएच पर आवागमन बेहद महत्वपूर्ण है। रायपुर और दुर्ग के बीच यह सड़क प्रदेश की सबसे महत्वपूर्ण सड़क है। इसमें रोज हजारों लोग आवागमन करते हैं और जनसुविधा को देखते हुए इसका तय समय सीमा में निर्माण बेहद अहम जिम्मेदारी है। इस में जुड़े अधिकारी एवं एजेंसियां युद्ध स्तर पर कार्य करें, कार्य की लगातार मॉनिटरिंग की जा रही है। इस संबंध में किसी भी तरह की लापरवाही होने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। 

प्रभारी सचिव ने कहा कि  दुर्ग से कुम्हारी के बीच सड़क की लगातार मॉनिटरिंग जरूरी है और यह मॉनिटरिंग हर घंटे होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि किसी भी तरह से गड्ढे होने की स्थिति में ट्रैफिक बाधित होता है और दुर्घटनाओं की आशंका भी बनती है। इसके लिए ब्लिंकर्स लगाएं। ट्रैफिक को व्यवस्थित करने के लिए पुलिस की मदद ले लिए एजेंसी के अधिकारी भी ध्यान दें एवं एनएच के अधिकारी भी इसे देखें। सर्विस रोड की मरम्मत बहुत जरूरी है। इस संबंध में कुछ घंटों का किया गया विलंब भी दिक्कत पैदा कर सकता है। शोल्डर आदी को ठीक कराने के निर्देश भी उन्होंने दिए। प्रभारी सचिव ने कहा कि जहां कहीं भी ट्रैफिक से जुड़ा मार्ग अवरोध हो उसे भी ठीक कराएं। प्रभारी सचिव ने अधिकारियों से यह भी पूछा कि जो तय समय सीमा है, उस पर कार्य करने के लिए उनके पास क्या योजना है । अधिकारियों ने योजना बताई। प्रभारी सचिव ने कहा कि पूरे मैन पावर के साथ यह कार्य करें । कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने भी बैठक में विस्तार से सचिव को एनएच से संबंधित स्थिति की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सर्विस रोड के किनारे के जंक्शन भी दुर्घटना के बिंदु बनते हैं। सारे तकनीकी बिंदुओं से एनएच के अधिकारियों को अवगत कराया गया है तथा इन्हें लगातार सर्विस रोड के मरम्मत के निर्देश दिए गए हैं तथा तय समय सीमा पर कार्य करने के निर्देश दिए गए हैं।