जिस खेल की अधिक चर्चा नहीं थी उसमें नीरज चोपड़ा ने गोल्ड दिला कर भारत का मान बढ़ाया


नई दिल्ली, छत्तीसगढ़।असल बात न्यूज़

0  विशेष संवाददाता

बैडमिंटन, हॉकी , कुश्ती , भारोत्तोलन, निशानेबाजी, यही वे खेल है जिनकी जब से ओलंपिक शुरू हुआ है तब से ही खेलों और उनके खिलाड़ियों की चर्चा हो रही है तथा कयास लगाए जा रहे हैं कि इस खेल में भारत को कौनसा पदक मिल सकता है ? कहां गोल्ड मिल सकता है। और किसी और खेल में और कौन सा पदक मिल सकता है। Javelin throw याने कि भाला फेंक खेल और उसके खिलाड़ी के बारे में शायद ही कोई चर्चा कर रहा होगा। लेकिन आज इस खेल के खिलाड़ी नीरज चोपड़ा ने भारत का नाम और सिर पूरी दुनिया में ऊंचा कर दिया है। भारत के 23 वर्षीय युवा जैवलिन थ्रोवर भाला फेंक एथलीट नीरज चोपड़ा ने देश को टोक्यो ओलंपिक में गोल्ड दिलाया है। नीरज ने इस तरह से देश में एक नया इतिहास रच दिया है और भारत के पदकों की संख्या को बढ़ाते हुए देश को गोल्ड मेडल दिलाया है।अब नीरज चोपड़ा को चारों तरफ से बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है।

जो लोग इस ओलंपिक मैच का लाइव देख रहे होंगे उन्होंने देखा है कि नीरज चोपड़ा ने किस तरह से शांति और पूरी एकाग्रता से अपना प्रदर्शन किया। उन्होंने गेम में पहली बार में ही शानदार प्रदर्शन करते हुए सत्या सी दशमूला 27 मीटर की दूरी तक भला फेंका। मुकाबले में कोई भी अन्य खिलाड़ी किसी भी राउंड में इससे अधिक दूरी तक भाला नहीं एक सका। तीसरे राउंड में नीरज हालांकि थोड़ा पिछड़ गए, उनका संतुलन बिगड़ गया था लेकिन उन से अधिक दूरी तक कोई भाला नहीं फेंक सका। Tokyo Olympic के दौरान हालांकि नीरज चोपड़ा के नाम की बात अधिक चर्चा नहीं थी लेकिन जिस तरह उनका javelin throw me प्रदर्शन रहा है उनसे गोल्ड मेडल की उम्मीद की जा रही थी।




 भारत के ओलिंपिक इतिहास में पहली बार नीरज चोपड़ा के रूप में किसी एथलीट ने जैवलिन थ्रो प्रतियोगिता में गोल्ड मेडल जीता और देश का सर गर्व से ऊंचा कर दिया। इस खेल में नीरज से पहले किसी भी एथलीट ने ये कामयाबी हासिल नहीं की थी। वो देश के लिए गोल्ड जीतने वाले पहले एथलीट बन गए। 

फाइनल राउंड में नीरज चोपड़ा ने कमाल कर दिया और ट्रैक एंड फील्ड स्पर्धा में ये मुकाम हासिल करने वाले पहले भारतीय बने। यही नहीं उन्होंने टोक्यो ओलिंपिक 2020 में भारत को पहला गोल्ड मेडल भी दिलाया। इसके अलावा वो भारत की तरफ से ओलिंपिक इतिहास में गोल्ड मेडल जीतने वाले दूसरे खिलाड़ी बने। उनसे पहले शूटर अभिनव बिंद्रा ने ये कमाल 2008 बीजिंग ओलिंपिक में 10 मीटर एयर राइफल में किया था। 

Tokyo Olympic me javelin throw me उत्कृष्ट प्रदर्शन के बाद नीरज चोपड़ा को हर कोई बधाइयां और शुभकामनाएं दे रहा है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नीरज चोपड़ा को टोक्यो ओलंपिक 2020 में भाला फेंक में स्वर्ण पदक जीतने पर बधाई दी है। प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्होंने उल्लेखनीय भावना के साथ खेला और अद्वितीय धैर्य दिखाया।

प्रधानमंत्री ने एक ट्वीट में कहा : 

"टोक्यो में इतिहास रचा गया है! @Neeraj_chopra1 ने आज जो उपलब्धि हासिल की है, उसे हमेशा याद रखा जाएगा। युवा नीरज ने असाधारण रूप से अच्छा प्रदर्शन किया है। उन्होंने उल्लेखनीय भावना के साथ खेला और अद्वितीय धैर्य दिखाया। स्वर्ण जीतने के लिए उन्हें बधाई। #Tokyo2020"

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने टोकियो ओलंपिक में भारत के लिए पहला गोल्ड मेडल जीतने वाले नीरज चोपड़ा  और 65 किलोग्राम वर्ग फ्री-स्टाइल कुश्ती में कांस्य पदक जीतने वाले बजरंग पुनिया को बधाई और शुभकामनाएं देते हुए इसे देश के लिए गौरवमयी क्षण बताया है। उन्होंने कहा है कि टोकियो आलंपिक में भाग लेने वाले सभी खिलाड़ियों ने भारत को नई खेल शक्ति के रूप में उभरने का अहसास करा दिया है। देश के खिलाड़ियों ने टोकियो ओलंपिक में अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है।

       मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा है कि टोकियो ओलंपिक में भारत के खिलाड़ियों की उपलब्धि और प्रदर्शन देश को एक नई खेल शक्ति के रूप में उभरने का अहसास करा रही हैै। उन्होंने कहा कि किसी भी खिलाड़ी के लिए ओलंपिक खेल में कोई भी पदक पाना एक गौरवमयी क्षण होता है। इस प्रतियोगिता में किसी भी खिलाड़ी का प्रदर्शन व्यक्तिगत नहीं पूरे देश का प्रदर्शन माना जाता है। खिलाड़ियों के इस प्रदर्शन से देश भर के युवा खिलाडियों को प्रेरणा मिलेगी।

...

................................

...............................

असल बात न्यूज़

खबरों की तह तक, सबसे सटीक , सबसे विश्वसनीय

सबसे तेज खबर, सबसे पहले आप तक

मानवीय मूल्यों के लिए समर्पित पत्रकारिता

................................

...................................