सेंट थॉमस महाविद्यालय में मार्थोम्मा पॉलूस द्वितीय की श्रद्धांजली सभा आयोजित

 

भिलाई। असल बात न्यूज़।

सेंट थॉमस मलंकरा ओर्थोडोक्स सिरियन चर्च के सर्वोच्च मुखिया बेसेलिओस मार्थोम्मा पॉलूस द्वितीय के देहावसान के एक माह पश्चात् आज सेंट थॉमस मिशन भिलाई द्वारा सेंट थॉमस महाविद्यालय भिलाई एवं एम जी एम महाविद्यालय दीमापुर नागालैंड के संयुक्त तत्वावधान में एक दिवसीय श्रद्धांजली सभा का आयोजन किया गया| इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि एवं उपदेशक वक्ता ओल्ड थियोलोजीकल सेमिनारी कोट्टयम केरल के एक्युमेनिकल रिलेशन विभाग के प्राध्यापक एवं सचिव फादर अब्राहम थॉमस थे|

 महाविद्यालय के मैनेजर बिशप मेट्रोपोलिटन कलकत्ता डायोसिस प्रमुख हिस ग्रेस डॉ जोसेफ मार डायनोशियस ने कहा कि मार्थोम्मा पॉलूस ने सदैव पूरी तत्परता के साथ समाजसेवा का कार्य किया एवं दूसरों को भी समाज सेवा के लिए प्रेरित किया| मुख्य वक्ता अब्राहम थॉमस ने अपने उद्बोधन में कहा कि एक आध्यात्मिक व्यक्तित्व के रूप में दिवंगत मार्थोम्मा पॉलूस स्वयं में सादा जीवन उच्च विचार के प्रमाण थे| वे सम्पूर्ण मानवता की सेवा करने में विश्वास रखते थे| वे बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे| ऐसे महापुरुष धरती पर कभी कभी ही जन्म लेते हैं एवं उनकी स्मृति सदैव हमें प्रेरणा देते रहेगी| सेंट थॉमस महाविद्यालय के प्रशासक रेवेरेंट फादर डॉ जोशी वर्गीस ने एक वीडियो के माध्यम से मार्थोम्मा पॉलूस द्वितीय का जीवन परिचय देते हुए कहा कि उन्होंने अपना सम्पूर्ण जीवन मानव सेवा को समर्पित किया| वाणिज्य विभाग की सहायक प्राध्यापक एवं अतिरिक्त विभागाध्यक्ष डॉ शीजा वर्की ने कहा कि एक महान समाजसेवी के रूप में मार्थोम्मा पॉलूस ने सदैव समाज के गरीब तबके के लोगों के जीवन उत्थान के लिए अभूतपूर्व कार्य किया| महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ एम. जी. रोईमोन ने कार्यक्रम के अंत में धन्यवाद ज्ञापन प्रस्तुत करते हुए कहा कि एक सच्चे समाजसेवी के रूप में मार्थोम्मा पॉलूस एक सरल स्वभाव के व्यक्ति थे| उन्होंने मुख्य वक्ता अब्राहम थॉमस का धन्यवाद करते हुए आभार व्यक्त किया| अपने उद्बोधन में उन्होंने महाविद्यालय के प्रशासक एवं मैनेजर बिशप को उनके निरंतर सहयोग एवं परामर्श के लिए धन्यवाद दिया|

 इस अवसर पर एम. जी. एम. महाविद्यालय दीमापुर नागालैंड के प्राचार्य डॉ पी. एस. वर्गीस एवं अन्य स्टाफ उपस्थित थे| कार्यक्रम का संचालन वाणिज्य विभाग के सहायक प्राध्यापक श्री प्रतीक शर्मा ने किया।