कलेक्टर के निर्देश पर यूरिया एवं अन्य खाद के कालाबाजारी पर की जा रही कड़ी कार्रवाई

 

छुरिया गेंदाटोला में निजी खाद विक्रेताओं पर की गई कार्रवाई
राजनांदगांव । असल बात न्यूज।

 जिले में लगातार मिल रही यूरिया की कालाबाजारी की शिकायत पर कड़ी  कार्रवाई की जा रही है। यहां कलेक्टर श्री तारम ने कहा है कि किसानों को परेशानी नहीं होना चाहिए। उन्हें निधारित मूल्य में खाद उपलब्ध होना चाहिए। उप संचालक कृषि श्री जीएस धुर्वे द्वारा छुरिया विकासखंड में जिले की टीम को भेजकर यूरिया को अधिक दाम पर बेचने वाले निजी विक्रय परिसर पर छापामारी की कार्रवाई की गई।

 छुरिया के मेसर्स-सिद्दीकी कुरैशी कृषि केन्द्र में अधिक दाम पर यूरिया बेचने की शिकायत मिलने पर सहायक संचालक कृषि श्री टीकम सिंह ठाकुर व टीम द्वारा विभाग के कर्मचारी को किसान बनाकर विक्रय परिसर में भेजकर यूरिया के विक्रय मूल्य को पता किया गया। जिसमें यूरिया 600 रूपए प्रति बैग कीमत में देने की बात निजी विक्रेता द्वारा किया गया। उसी मौके पर टीम द्वारा दबिश देकर मूल्य सूची प्रदर्शित नहीं करने, बिल वाउचर नहीं रखने तथा किसानों को बिना रसीद व बिना पौश मशीन के मनमाने कीमत पर यूरिया विक्रय करने का दोषी पाया गया। जिस पर कार्रवाई करते हुए संबंधित मेसर्स के गोदाम में रखे यूरिया 70 बोरी को उर्वरक गुण (नियंत्रण) आदेश, 1985 के खण्ड 4 (ब)-5 एवं 8 के उल्लंघन पाये जाने के फलस्वरूप जप्ती कर सुर्पुदगी किया गया एवं प्रकरण को आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 के तहत् कार्रवाई हेतु कलेक्टर न्यायालय में प्रस्तुत किया जाएगा। इसी प्रकार विकासखंड छुरिया ग्राम गैंदाटोला में मेसर्स-साहू कृषि केन्द्र में रिकार्ड संधारण एवं कीटनाशी अनुज्ञप्ति में स्रोत प्रमाण पत्र के बिना कीटनाशकों का विक्रय किये जाने के कारण आदान सामग्रियों का जप्ती कर सुर्पुदगी की गई।
उप संचालक कृषि श्री जीएस धुर्वे ने निजी अनुज्ञप्तिधारियों से अपील की है कि किसानों के हित में वर्तमान आवश्यकतानुसार निर्धारित मूल्य पर ही यूरिया एवं अन्य खाद का विक्रय करें। जिससे किसान वित्तीय नुकसान व परेशानी से बच सके। यदि निजी अनुज्ञप्तिधारियों के विरूद्ध उर्वरक काला बाजारी जैसी शिकायत प्राप्त होती है तो संबंधित के विरूद्ध कठोर विधिसम्मत कार्रवाई की जाएगी।