प्रेमचंद जयंती के अवसर पर वर्चुअल संगोष्ठी का आयोजन

 

भिलाई। असल बात न्यूज़।

इंदिरा गांधी शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, वैशाली नगर भिलाई द्वारा प्रेमचंद जयंती के अवसर पर वर्चुअल संगोष्ठी का आयोजन किया गया । 'प्रेमचंद का रचना संसार : सोशल मीडिया और इंटरनेट' पर केन्द्रित आयोजन में ख्यातिलब्ध कवि, कथाकार, समालोचक, इतिहास और मनोविज्ञान अध्येता शरद कोकास अतिथि वक्ता थे

 स्वागत संबोधन में महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. अलका मेश्राम ने प्रेमचंद के साहित्य सृजन में समाविष्ट खूबियों का जिक्र करते हुए कृषक, दलित, शोषित वर्गों के प्रति उनकी गहन संवेदना और प्रतिबद्धता को आज भी प्रासंगिक बताया । उन्होंने युवाओं को प्रेमचंद की गहन दृष्टि और व्यापक चेतना को परख और समझ कर उसके अनुकरण का आग्रह कर इसे सामाजिक उन्नयन के लिए अपरिहार्य माना । 


कार्यक्रम के मुख्य अतिथि और वक्ता , कवि , लेखक साहित्यधर्मी शरद कोकास ने प्रेमचन्द के संदर्भ में सोशल मीडिया और इंटरनेट में परोसी जा रही सामग्रियों का वस्तुस्थितिपरक तार्किक और प्रामाणिक विवेचन अनेकानेक दृष्टांतों का समावेश कर रोचक शैली में प्रस्तुत किया । प्रेमचंद ही नहीं, पंत , बच्चन,महादेवी और गुलज़ार, गालिब आदि के नाम से चलने वाली कविताओं और तुकबंदियों के पीछे के मनोवैज्ञानिक कारणों का विश्लेषण करते हुए उन्होंने इस प्रवृत्ति पर रोक लगाने की मांग उठाई।


कार्यक्रम का संचालन करते हुए प्रो. कौशल्या शास्त्री ने अतिथि वक्ता के उद्बोधन के पूर्व उनका परिचय दिया । प्रेमचंद जन्मदिवस प्रसंग पर आयोजित वर्चुअल संगोष्ठी में विविध महाविद्यालय के प्राध्यापक, शोधार्थी, साहित्यधर्मी और छात्र-छात्राएं उपस्थित थे ।










....