crime,कोरोना संकट के समय में भी रेल टिकट बनाने के काम में दलाल सक्रिय, अभी कंफर्म टिकट से ही कर सकते हैं यात्रा

 *अवैध टिकट दलालों के खिलाफ रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ़), दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे ने  चलाया अभियान

 * छापो में 32 दलालों से बरामद किए गए लगभग 06 लाख 50 हजार रुपए मूल्य के रेल टिकट”


बिलासपुर/रायपुर ।असल बात न्यूज़।

कोरोना संकट के समय में यात्री ट्रेनों में बहुत आवश्यक होने पर यात्रा कर रहे हैं। सवारी नहीं होने की वजह से रेलवे को बीच में कई ट्रेनों को रद्द करना पड़ा है।ताजा आदेश के अनुसार कोई भी बिना कंफर्म टिकट के यात्रा नहीं कर सकता। कंफर्म टिकट के अधिक मांग को देखते हुए टिकट दलाल से से सक्रिय हो गए हैं। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे का जगह टिकट दलालों को नियंत्रित करने जगह-जगह छापा मारा गया है। इस दौरान 32 टिकट दलालों सेलाखों रुपए के मूल्य के रेल टिकट बरामद किए जाने की जानकारी मिली है। ऐसे में अंदाजा लगाया जा सकता है कि कंफर्म टिकट दिलाने के काम में टिकट दलाल कितने अधिक सक्रिय हो गए हैं।

भारतीय रेलवे द्वारा रेल यात्रियों को आरक्षित बर्थ/ सीट के साथ आरामदायक यात्रा की सुविधा उपलब्ध कराने हेतु कई प्रकार की सुविधाएँ दी गई है । बिना रेलवे स्टेशन गए अपने आसपास ही कंप्यूटर एवं मोबाइल के माध्यम से यात्रा टिकट बूक करने हेतु ई-टिकट की सुविधा भी इन्ही में से एक है । इस सुविधा का लाभ भी रेल यात्रियों को मिल रहा है।  । विगत कुछ समय से कुछ जगहो पर ई-टिकट की सुविधा में टिकट दलालो के द्वारा नियम विरुद्ध टिकटो की बूकिंग तथा कालाबाजारी शुरूूूू कर दी है।  रेलवे के वाणिज्य तथा रेलवे सुरक्षा बल विभाग के द्वारा छापेमारी कर ऐसेे मामलों में दलालोंों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

इसी कड़ी में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के अलग-अलग जगहो से काफी मात्रा में ई-टिकटों की नियम विरुद्ध बूकिंग तथा कालाबाजारी की शिकायतों पर सज्ञान लेते हुए दिनांक 26 एवं 27 अगस्त, 2021 को प्रधान मुख्य सुरक्षा आयुक्त, दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे श्री अमिय नंदन सिन्हा के निर्देश पर तीनों मंडलों मे एक साथ अवैध टिकट दलालों के विरूध्द सघन अभियान चलाकर उचित कानूनी कार्यवाही की गई । 

टिकट दलाल अपने व्यक्तिगत आई.डी. का दुरूपयोग करते हुए आई.आर.सी.टी.सी. के पोर्टल पर टिकट बनाकर अतिरिक्त लाभ लेकर तत्काल प्रिमियम एवं अन्य रिजर्वेशन टिकट बेचते है, जो कि धारा 143 रेलवे अधिनियम के तहत् दंडनीय अपराध है । इन पर लगाम लगाने हेतु पूरे दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे मे अलग - अलग शहरों में एक साथ छापेमारी की गई । इस अभियान में 30 प्रकरण पंजीबध्द कर 32 अवैध टिकट दलालों को गिरफतार किया गया तथा लगभग 6,50000/- रू. मूल्य के टिकटों की जप्ती की गई ।

 इस दौरान छापेमारी हेतु बिलासपुर-11, रायपुर-06 एवं नागपुर-13 कुल मिलाकर 30 लोगों की टीम बनाई गई। उसके बाद छत्तीसगढ़ में रायगढ़, चांपा, कोरबा, बिलासपुर, पेन्ड्रारोड, अंबिकापुर, रायपुर , भिलाई एवं दुर्ग इत्यादि स्थानों पर छापा मारा गया।

 छापे के दौरान कुल - 30 (बिलासपुर-11, रायपुर- 06 एवं नागपुर-13)मामले दर्ज किये गये ।

कार्रवाई में बिलासपुर से-13, से 06 एवं नागपुर  से तेरा वालों को गिरफ्ताार किया। कुल 32 टिकट दलाल गिरफ्तार किए गए।

✅ जप्त टिकटों का मूल्य – (भविष्य यात्रा टिकट- रू. 22,801.00) (पूर्व यात्रा टिकट- रू. 6,22,437.27) (कुल कीमत - रू. 6,45,238.27)

✅ जप्त अन्य सामान - कम्प्यूटर , मोबाईल, लेपटाप व अन्य ।

✅ यात्रा किये गये कुल टिकटों का मूल्य - रू. 6,22,437.27

✅ लाईव टिकट का मूल्य - रू. 22,801.00।