छत्तीसगढ़ में राजनीतिक़ हलचल तेज, 35 से अधिक विधायक दिल्ली पहुंच गए हैं, विधायकों ने बैठक भी की, मुद्दा वही है मुख्यमंत्री की कुर्सी, लेकिन कोई कुछ बोल नहीं रहा है

 रायपुर। असल बात न्यूज़।

0  विशेष संवाददाता।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल एक दिन पहले ही दिल्ली से वापस लौटे थे तो राजनीतिक गलियारे में संदेश जा रहा था कि  मुख्यमंत्री को बदले जाने का सब्जेक्ट अब पटाक्षेप होने की ओर बढ़ रहा है। लेकिन वरिष्ठ मंत्री श्री टी एस सिंह देव  दिल्ली में ही लगातार जमे हुए हैं। राजनीतिक परिदृश्य में ताजा हलचल, घटनाक्रम के बीच छत्तीसगढ़ के लगभग 35 मंत्री दिल्ली पहुंच गए हैं। यहां से एक दिन में इतने अधिक संख्या में मंत्रियों का दिल्ली पहुंचने से कई सारे सवाल खड़े हो गए हैं। लोगों के जहन में कई सारी बातें आने लगी हैं। जब कई मंत्री और इतने सारे विधायक दिल्ली पहुंच गए हैं तो लोगों के जेहन में यह सवाल कौंधना स्वाभाविक है कि यह सारा घटनाक्रम क्या कहीं,  मुख्यमंत्री तथा मंत्रिमंडल में के संबंध में कोई निर्णय लेने से तो सीधे से जुड़ा हुआ तो नहीं है। दिल्ली जा रहे विधायकों से पूछा गया है कि वे दिल्ली क्यों जा रहे हैं, तो इसका कोई साफ-साफ जवाब मिलने की बजाय यही बताया गया है कि छत्तीसगढ़ के विकास की योजना के बारे में चर्चा के लिए दिल्ली जा रहे हैं। इतने सारे विधायकों के बिना बुलाए अचानक दिल्ली पहुंचने से कोई भी समझ सकता है कि दिल्ली में यह जमावड़ा सिर्फ विकास की योजनाओं पर चर्चा करने के लिए तो नहीं हो रहा है।

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में आज शाम के बाद जो राजनीतिक गतिविधियां शुरू हुई हैं, उसने राजनीतिक गलियारे में नए कयासों को जन्म दिया है। कांग्रेस के विधायकों ने circuit House में बैठक भी की है, इसमें अंबिकापुर तीन, चार विधायकों के साथ कुल 13 विधायकों के शामिल होने की जानकारी मिली है। इन विधायकों की बैठक में ऐसे संवेदनशील समय में क्या बातचीत हुई होगी इसका अंदाजा लगाया जा सकता है। राजनीतिक गलियारे में यह भी चर्चा तेजी से फैल रही है कि अब बात सिर्फ मुख्यमंत्री की कुर्सी तक की ही नहीं है, अगर मगर की परिस्थिति में कुछ मंत्रियों को बदले जाने के बारे में भी बातें हो रही हैं। अभी ताजा हालात में पता चला है कि किसी भी विधायक को दिल्ली में पार्टी के किसी भी वरिष्ठ नेता से मुलाकात के लिए अभी समय मिल नहीं सका है।समय लेने के लिए सभी विधायकों को इंतजार करना पड़ सकता है। सभी विधायक आनन-फानन में पहुंचे हैं।कहा जा रहा है कि कहीं ना कहीं संकट जरूर है जिसकी वजह से इतनी बड़ी संख्या में विधायक अचानक दिल्ली पहुंचे हैं।

जानकारी के अनुसार वरिष्ठ मंत्री गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू भी कई दिन पहले से ही दिल्ली में है। अभी मंत्री डॉक्टर शिव डहरिया, श्रीमती अनिला भेड़िया इत्यादि के भी दिल्ली पहुंचने की खबर मिली है। बताया जाता है कि मंत्री, विधायक दो अलग-अलग विमानों से दिल्ली पहुंचे हैं। जब इतनी बड़ी संख्या में मंत्री और विधायक दिल्ली पहुंच रहे हैं तो यह कयास लगाया जाना स्वाभाविक है कि कहीं यह कोई शक्ति प्रदर्शन की तैयारी तो नहीं हो रही है। ताजा घटनाक्रमों में ऐसे कई सारे सवाल  लोगों के जेहन में कौंध रहे हैं।