प्रदेश की राजनीति में 3 सितंबर साबित हो सकता है महत्वपूर्ण दिन

 रायपुर। असल बात न्यूज़।

छत्तीसगढ़ राज्य की राजनीति में फिर हलचल मच गई है। यहां की राजनीति में लगातार उठापटक चल रही हैं। ऐसा लग रहा है कि तू डाल डाल तो मैं पात पात के जैसी चालें चली आ रही है। खबर है कि ताजा घटनाक्रम में दिल्ली से बातचीत होने के बाद वरिष्ठ मंत्री श्री टी एस सिंह देव फिर दिल्ली चले गए हैं। श्री सिंह देव के दिल्ली जाने के बाद राज्य की राजनीति में फिर गर्माहट आ गई है।

 यह तो सबको मालूम है कि दिल्ली में भारी  शक्ति प्रदर्शन के बाद एक दिन पहले ही कितनी बड़ी संख्या में वरिष्ठ मंत्री और विधायक वापस लौटे हैं तब यह संकेत देने की कोशिश की गई है कि सब कुछ नियंत्रित और शांत हो गया है। लेकिन नए घटनाक्रम के बाद राज्य की राजधानी में आज फिर भारी हलचल मच गई है।इस बीच खबर आ रही है कि आगामी 3 सितंबर का दिन छत्तीसगढ़ राज्य की राजनीति में काफी महत्वपूर्ण साबित हो सकता है। इस दिन दिल्ली से पूर्व वरिष्ठ केंद्रीय मंत्री अजय माकन यहां आ रहे हैं।वे कोई बड़ी घोषणा भी कर सकते हैं।

दो दिन पहले दिल्ली से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल यहां लौट आए। उनके साथ 50 से अधिक विधायकों और मंत्रियों की वापसी हुई। इस बीच यह खबर भी जोर शोर से फैली की एक सप्ताह के भीतर कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी छत्तीसगढ़ आएंगे। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने  बताया कि उन्होंने मुख्यमंत्री के तौर पर राष्ट्रीय नेता राहुल गांधी को छत्तीसगढ़ आमंत्रित किया है और उन्होंने इसपर अगले सप्ताह यहां आने का आश्वासन दिया है।

राजनीति से जुड़े  विश्लेषक, राष्ट्रीय नेता राहुल गांधी के आगमन की खबर को अलग-अलग नजरिए से देखते रहे हैं। कुछ विश्लेषकों का मानना है कि श्री गांधी आ रहे हैं तो उनकी यहां के राजनीतिक घटनाक्रमों पर बारीक नजर रहेगी और वे इसे देखते हुए कोई बड़ा निर्णय ले सकते हैं। दूसरी तरफ यह बताया जा रहा है कि श्री गांधी यहां छत्तीसगढ़ के विकास मॉडल को देखने और समझने आ रहे हैं। अभी तक श्री गांधी के आगमन की खबरें सुर्खियों में थी। उनके आगमन के क्या मायने हो सकते हैं इसी की खबरें जुटाई जा रही थी।

वरिष्ठ मंत्री श्री सिंह देव के दिल्ली चले जाने के बाद राज्य की राजनीति में नया उफान आ रहा है। अंदरूनी सूत्रों की खबर है कि मंत्री श्री सिंह देवको दिल्ली बुलाया गया है जिसके बाद में दिल्ली रवाना हुए हैं।वे दिल्ली गए हैं,और इसके पहले भी उन्होंने साफ तौर पर कहा था कि परिवर्तन निश्चित है, तो उनके इस दिल्ली जाने के मामले को मुख्यमंत्री की कुर्सी से ही जोड़कर देखा जा रहा है।

इधर यह भी खबर आ रही है कि अभी राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी की जगह पूर्व केंद्रीय मंत्री अजय माकन आगामी 3 सितंबर को यहां आ रहे हैं। इस खबर के फैलने के बाद इसको लेकर अनुमान लगाया जा रहा है कि श्री माकन यहां आगमन के दौरान क्या कोई बड़ी घोषणा कर सकते हैं।