पीएचई के दुर्ग कार्यालय में अधिकारियों-कर्मचारियों को धमकाया, ठेकेदारों के साथ भी मारपीट

 

-पीएचई के पीड़ित अधिकारियो-कर्मचारियों ने सौंपा कलेक्टर-एसपी को ज्ञापन, दुर्ग जिला पीएचई ठेकेदार संघ के पदाधिकारियों ने भी ठेकेदारों के साथ मारपीट करने वाले शख्स के विरुद्ध कार्रवाई को लेकर सौंपा कलेक्टर को ज्ञापन

दुर्ग । असल बात न्यूज।

लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के जिला कार्यालय में एक व्यक्ति के द्वारा अधिकारियों कर्मचारियों तथा उपस्थित ठेकेदारों के साथ दुर्व्यवहार, गाली गलौज करने तथा धमकी देने का मामला सामने आया है। इस मामले में पीड़ित पक्षकारों  जिसमें अधिकारी कर्मचारी भी शामिल है ने कलेक्टर डाॅ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे तथा एसपी श्री प्रशांत अग्रवाल को ज्ञापन सौंपा है तथा मामले में आवश्यक कार्रवाई करनेे की मांंग की गई है।उक्त दुर्व्यवहार और धमकी देने वाला व्यक्ति भी ठेकेदार ही बताया जाता है।पूरा मामला ठेका हासिल करने के विवाद से जुड़ा हुआ बताया जा रहा है।

 पीड़ित अधिकारी-कर्मचारियों ने कलेक्टर को ज्ञापन देकर बताया है कि मंगलवार को देवेंद्र अग्रवाल नाम के व्यक्ति ने अधिकारियों के चेंबर में प्रवेश कर उनसे गाली-गलौज की एवं धमकियाँ दी। कार्यालय के कार्यपालन अभियंता, उप अभियंता, सहायक अभियंता से लेकर भृत्य तक सभी से इसने दुर्व्यवहार किया। इसके साथ ही बाहर से भी आसामाजिक तत्वों को बुलाया। जिसकी वजह से महिला कर्मचारी भी भयभीत हो गए। अधिकारियों ने बताया कि शासकीय कार्य के संपादन के दौरान इस व्यक्ति द्वारा किये गये कृत्य से वे मानसिक रूप से बेहद व्यथित हैं।

 जिस दौरान यह घटना हुई, उस दौरान दुर्ग जिला लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी ठेकेदार संघ के सदस्य भी मौजूद थे। कलेक्टर को प्रस्तुत किये गये अपने ज्ञापन में इन्होंने बताया कि जब इन सदस्यों ने अभद्र व्यवहार करने पर रोकना चाहा, तब देवेंद्र अग्रवाल ने उनके साथ भी मारपीट शुरू कर दी। साथ ही यह भी धमकी दी कि जिस निविदा में मैं अथवा मुझसे संबंधित लोग हिस्सा लेंगे, उसमें कोई दूसरा ठेकेदार टेंडर नहीं डालेगा। ठेकेदार संघ ने अपने ज्ञापन में संबंधित व्यक्ति पर कड़ी कार्रवाई करने की माँग की है।