औद्योगिक क्षेत्र में 18 हजार 165 करोड़ रूपए के पूंजी निवेश से बदलेगी राज्य की तस्वीर

 

नई औद्योगिक नीति से राज्य में औद्योगिक विकास का नया वातावरण

रायपुर । असल बात न्यूज।

सकारात्मक वातावरण, और जरूरी सहयोग मिलने से राज्य में औद्योगिक इकाइयों में निवेश लगातार बढ़ने लगा है।पिछले ढाई सालों में औद्योगिक क्षेत्र में एक हजार 351 उद्योगों में कुल 18 हजार 165 करोड़ 30 लाख रूपए से अधिक का पूंजी निवेश हुआ है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेलराज्य में औद्योगिक क्षेत्र में निवेश के लिए स्वयं पहल कर रहे हैं। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार पिछले वर्षों में राज्य में औद्योगिक क्षेत्र मैं निवेश बढ़ा है तो रोजगार के अवसर की संभावनाएं भी बढ़ रही है। राज्य में नए औद्योगिक इकाइयों के लगने से से 26 हजार 493 लोगों को प्रत्यक्ष रोजगार उपलब्ध होने के साथ ही राज्य के औद्योगिक विकास में तेजी आएगी।

    राज्य में नवीन औद्योगिक नीति 2019 से 2024 तक लागू की गई है। वाणिज्य एवं उद्योग विभाग से मिली जानकारी के अनुसार प्रदेश में जनवरी 2019 से मई 2021 तक 510 सूक्ष्म उद्योगों में 218 करोड़ 13 लाख रूपए से अधिक का पंूजी निवेश हुआ है, जिससे राज्य के 3 हजार 745 युवाओं को रोजगार मिलेगा। इसी प्रकार 765 लघु उद्योगों में एक हजार 510 करोड़ 37 लाख रूपए के पूंजी निवेश से 9 हजार 968 लोगों को रोजगार मिलेगा। मध्यम 50 उद्योगों में 451 करोड़ 18 लाख रूपए के पूंजी निवेश से 3 हजार 139 लोगों को रोजगार मिलेगा। इस तरह 17 वृहद उद्योगों के द्वारा 868 करोड़ 54 लाख रूपए के पूंजी निवेश से एक हजार 960 युवाओं को रोजगार उपलब्ध होगा। 7 मेगा उद्योगों में 2 हजार 885 करोड़ 42 लाख रूपए के पूंजी निवेश से 4 हजार 802 लोगों को रोजगार उपलब्ध होगा तथा अल्ट्रा मेगा के 2 उद्योगों की स्थापना के लिए 12 हजार 231 करोड़ 63 लाख रूपए से अधिक के पूंजी निवेश से 2 हजार 879 लोगों को रोजगार उपलब्ध होगा।
    गौरतलब है कि राज्य की नई औद्योगिक नीति के अंतर्गत छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा उद्योगों को बिजली दर में रियायत, अनुदान सहायता, एकल विन्डो प्रणाली लागू करने के साथ ही स्थानीय उद्यमियों को प्राथमिकता देने के प्रावधान किए गए है, जिसके चलते राज्य में औद्योगिक विकास का नया वातावरण निर्मित हुआ है और राज्य में उद्योग स्थापना के लिए उद्यमी आकर्षित हो रहे हैं।