मंत्री गुरू रूद्रकुमार ने हाथकरघा एवं हस्तशिल्प प्रदर्शनी का किया शुभारंभ : छत्तीसगढ़ हाट पंडरी में 15 अगस्त तक चलेगी प्रदर्शनी

 


ग्रामोद्योग मंत्री ने राष्ट्रीय हाथकरघा दिवस पर किया विशेष आवरण डाक टिकट जारी

रायपुर । असल बात न्यूज़

लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एवं ग्रामोद्योग मंत्री गुरू रूद्रकुमार छत्तीसगढ़ हाट परिसर पण्डरी रायपुर में आज 7वें राष्ट्रीय हाथकरघा दिवस पर आयोजित 9 दिवसीय प्रदर्शनी का शुभारंभ किया। मंत्री गुरु रुद्रकुमार ने कहा कि हाथकरघा संघ बुनकरों को नियमित रोजगार उपलब्ध करा रहा है और ग्रामीण अर्थव्यवस्था के सुदृढ़ीकरण में अपनी महत्वपूर्ण सहभागिता निभायी है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में ग्रामोद्योग विभाग द्वारा कोरोनाकाल की विषम परिस्थितियों में भी 4 लाख 50 हजार लोगों को घर पर ही रोजगार उपलब्ध कराया गया है। मंत्री गुरू रूद्रकुमार ने राष्ट्रीय हाथकरघा दिवस पर भारतीय डाक विभाग, छत्तीसगढ़ परिमंडल के सौजन्य से हाथकरघा के प्रमोशन के लिए विशेष आवरण डाक टिकट जारी किया और सभी बुनकरों को राष्ट्रीय हाथकरघा दिवस की बधाई एवं शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर प्रदर्शनी में लगे सभी स्टॉलों का अवलोकन कर बुनकरों और शिल्पियों का उत्साहवर्धन भी किया। प्रदर्शनी के शुभारंभ अवसर पर संसदीय सचिव श्रीमती अंबिका सिंहदेव, छत्तीसगढ़ हस्तशिल्प विकास बोर्ड के अध्यक्ष श्री चंदन कश्यप, छत्तीसगढ़ राज्य हाथकरघा विकास एवं विपणन संघ के अध्यक्ष श्री मोतीलाल देवांगन सहित छत्तीसगढ़ माटीकला बोर्ड के अध्यक्ष श्री बालम चक्रधारी विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित थे।

7 अगस्त से 15 अगस्त तक चलने वाली प्रदर्शनी सुबह 11 बजे से  रात्रि 9 बजे तक आम लोगों के लिए खुली रहेगी। इस प्रदर्शनी में राज्य के 18 बुनकर समितियों, 20 हस्तशिल्प कारीगरों, खादी एवं ग्रामोद्योग और माटीकला शिल्पकारों के 5-5 तथा रेशम वस्त्र और धागाकरण के दो स्टॉल सहित कुल 50 स्टॉल लगाया गया है। प्रदर्शनी में छत्तीसगढ़ राज्य का हस्तशिल्प ढोकरा, लौह शिल्प, काष्ठ शिल्प, बांस शिल्प, गोदना शिल्प, शीसल शिल्प, टेराकोटा शिल्प, भित्ती चित्र, पत्थर शिल्प, कौंड़ी शिल्प, तूम्बा शिल्प, कशीदाकारी और पारम्परिक वस्त्र सहित विविध शिल्प इत्यादि एवं हाथकरघा वस्त्रों में कोसा सिल्क, टसर सिल्क, कॉटन के ड्रेस मटेरियल, साड़ियाँ, टुपट्टे, चादर, बेडशीट तथा खादी वस्त्रों और ग्रामोद्योग द्वारा निर्मित सामग्रियों का विक्रय सह प्रदर्शन किया जायेगा। प्रदर्शनी में राजधानी वासियों के लिए त्योहारों के मौसम में उनके पसंद के अनुरूप गृह उपयोगी और साज-सज्जा की आकर्षक सामग्रियां और हाथकरघा वस्त्रों तथा हस्तशिल्प की वस्तुएं वाजिब दामों पर बिक्री के लिए उपलब्ध है। इस प्रदर्शनी के आयोजन में सुरक्षा के पर्याप्त व्यवस्था की गई है और इस दौरान दौरान राज्य शासन द्वारा जारी कोरोना गाइडलाइन का विशेष रूप से पालन किया जा रहा है। इस अवसर पर ग्रामोद्योग संचालक श्री सुधाकर खलखो, हाथकरघा संघ के एमडी श्री राजेश राणा, पोस्ट मास्टर जनरल रायपुर श्री रामचंद्र किसन जयभाय, अपर संचालक रेशम डॉ. राजेश बघेल, महाप्रबंधक श्री एस.एल.ध्रुर्वे सहित विभागीय अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।