पुलिस थानों से अब ई -हस्ताक्षर युक्त प्रमाणित डिजीटल दस्तावेज मिलने लगेंगे

 


रायपुर । असल बात न्यूज़।

छत्तीसगढ़ राज्य में जल्द ही पुलिस थानो से आम नागरिकों को थानों के दस्तावेज ई-हस्ताक्षर युक्त प्रमाणित डिजीटल फॉर्म में मिलने लगेंगे। ई हस्ताक्षर को थाना स्तर पर लागू करने की प्रक्रिया तेज गति से चल रही है। उसके साथ ही  ई-हस्ताक्षर युक्त प्रमाणित दस्तावेज ही अब न्यायालयों में भी प्रस्तुत किया जाना शुरू किया जाएगा। ई हस्ताक्षर को प्रभावी तरीके से लागू करने के लिए प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है। 

 सीसीटीएनएस योजनांतर्गत एनसीआरबी, नई दिल्ली द्वारा  वीडियो कान्फ्रेेसिंग के माध्यम से देश के सभी राज्यों की बैठक आयोजित की गई। उक्त बैठक में एनसीआरबी, नई दिल्ली द्वारा सी-डेक के माध्यम से तैयार किये गये ई-हस्ताक्षर (eSign ) का प्रदर्शन किया गया। ई-हस्ताक्षर के माध्यम से सीसीटीएनएस के तहत थानों में ऑनलाईन एफआईआर एवं विवेचना संबंधित समस्त फार्मो में डिजीटल हस्ताक्षर संबंधित विवेचक एवं थाना प्रभारी द्वारा किया जा सकेगा, जो कि वैधानिक रूप से मान्य होगा एवं न्यायालय में भी स्वीकार किया जायेगा।

 ई-हस्ताक्षर का  सीसीटीएनएस के नवीन वर्जन केस 5.0 के तहत उपयोग किया जा सकेगा। ज्ञात हो कि एनसीआारबी, नई दिल्ली द्वारा प्रदाय किये गये सीसीटीएनएस के नवीन वर्जन केस 5.0 को सफलतार्पूवक ला गू करने वाला  देश में एक मात्र छत्तीसगढ़ राज्य है। इस कार्य हेतु एनसीआरबी ज्वाईन डायेक्टर श्री संजय माथुर द्वारा छत्तीसगढ़ राज्य की प्रशंसा करते हुये नोडल अधिकारी एवं विशेष पुलिस महानिदेशक श्री आर. के. विज को बधाई दी गई।

 श्री विज द्वारा एनसीआरबी को संबोधित करते हुये कहा गया कि छत्तीसगढ़ राज्य में  ई-हस्ताक्षर को थाना स्तर पर जल्दी ही क्रियान्वित कर लिया जाएगा। इससे आम नागरिकों को थानों के दस्तावेज ई-हस्ताक्षर युक्त प्रमाणित डिजीटल फार्म में प्रदाय किया जा सकेंगे साथ ही न्यायालय में भी ई-हस्ताक्षर युक्त प्रमाणित दस्तावेज पेश किया जा सकेगा। उक्त बैठक में विशेष पुलिस महानिदेशक श्री आर. के. विज, सहायक पुलिस महानिरीक्षक श्री मनीष शर्मा, अपर संचालक वित्त श्री धर्मेन्द्र कुमार, सीसीटीएनएस प्रभारी श्री एस. एन. सिंह, श्री बी. एल. चंद्राकर, श्री सत्यप्रकाश उपाध्याय,  सुश्री भुवनेश्वरी साहू, प्रोजेक्ट मैनेजर टीसीएस श्री आनंद कराम्बे एवं टीम सम्मिलित हुये।