चन्दूलाल चन्द्राकर स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय दुर्ग के अधिग्रहण का विधेयक विधानसभा में पेश

 

कैबिनेट में विधेयक के प्रारूप का किया गया है अनुमोदन


     रायपुर । असल बात न्यूज।

विधानसभा में चन्दूलाल चन्द्राकर स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय दुर्ग के अधिग्रहण का विधेयक आज प्रस्तुत किया गया। भरसाधक मंत्री टीएस सिंह देव की जगह संसदीय कार्य मंत्री रविंद्र चौबे ने सदन में यह विधेयक प्रस्तुत किया।  राज्य कैबिनेट की बैठक में इस चिकित्सा महाविद्यालय के अधिग्रहण विधेयक के प्रारूप का अनुमोदन किया गया है।

 

        संसदीय कार्य मंत्री श्री रविन्द्र चौबे ने कहा है कि छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ की पूरी जनता और छात्रों के हित में तथा प्रदेश में तेजी से चिकित्सा शिक्षा के विस्तार के उद्देश्य से चन्दूलाल चन्द्राकर स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय दुर्ग के अधिग्रहण का निर्णय लिया गया है। इससे चिकित्सा महाविद्यालय के रूप में एक तैयार अधोसंरचना का अधिग्रहण किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि आमतौर पर किसी चिकित्सा महाविद्यालय की अधोसंरचना को तैयार करने में ही करीब 500 करोड़ रूपए और काफी समय लग जाता है। मेडिकल कॉउंसिल ऑफ इंडिया द्वारा मान्यता प्राप्त 150 सीट वाले चंदूलाल चंद्राकर स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय दुर्ग के अधिग्रहण से केवल आधी लागत में ही एक और शासकीय मेडिकल कॉलेज का लाभ प्रदेश की जनता को तत्काल मिल सकेगा।

वरिष्ठ सदस्य बृजमोहन अग्रवाल ने इस विधेयक के कई पहलुओं पर आपत्ति भी की। उन्होंने विधेयक पर आपत्ति करते हुए कहा कि विधेयक के लागू हो जाने से आम लोगों के ढेर सारे हित प्रभावित होने वाले हैं। कई सारे लोगों को वहां  की प्रबंध संचालन समिति  से पैसा लेना है। आईपीसी और सीआरपीसी से संबंधित मामले में है।

सदन में वित्तीय वर्ष सन 2021 22 की प्रथम अनुपूरक और मालिक की अनुदान मांगों पर चर्चा के दौरान वरिष्ठ सदस्य मोहन मरकाम ने छत्तीसगढ़ चंदूलाल चंद्राकर स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय दुर्ग अधिग्रहण विधेयक 2021 का उल्लेख करते हुए कहा कि यह छत्तीसगढ़ सरकार का ऐतिहासिक निर्णय है। यहां से प्रतिवर्ष 150 बच्चे डॉक्टर बन के निकलेंगे। उसके भवन निर्माण तथा उपकरणों के लिए राशि का अनुपूरक बजट में प्रावधान किया गया है।