सुंदर और व्यवस्थित होगी कुम्हारी की बसाहट, नागरिक हित में लिये गए बड़े निर्णय

 

-कलेक्टर डाॅ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने ली कुम्हारी नगर पालिका में अधिकारियों की बैठक, निर्माण कार्यों की प्रगति का किया निरीक्षण, तेजी से कार्य पूरा करने दिये निर्देश

दुर्ग ।असल बात न्यूज।

 कुम्हारी के नागरिकों की सुविधाएं बढ़ाने एवं शहर को अधिक व्यवस्थित एवं अधोसंरचना के दृष्टिकोण से बेहतर बनाने की दिशा में आज बड़े निर्णय कलेक्टर डाॅ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे की अध्यक्षता में हुई अधिकारियों की बैठक में लिये गए। बैठक में कलेक्टर ने जनप्रतिनिधियों एवं नगर पालिका के अधिकारियों से निर्माण कार्यों की प्रगति के बारे में जानकारी ली, साथ ही नागरिकों के लिए आवश्यक अधोसंरचना के संबंध में भी फीडबैक लिया तथा इस संबंध में आवश्यक निर्देश दिये। बैठक में मुख्यमंत्री के ओएसडी  मनीष बंछोर, नगर पालिका अध्यक्ष  राजेश्वर सोनकर, संयुक्त कलेक्टर सुश्री ज्योति पटेल एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

*राजीव गांधी आश्रय योजना के हितग्राहियों को मिले लाभ-* कलेक्टर ने बैठक में कहा कि शासन ने राजीव गांधी आश्रय योजना के माध्यम से हितग्राहियों को भूस्वामी अधिकार देने के संबंध में महत्वपूर्ण फैसला लिया है। नगरीय निकाय के अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि नागरिकगण इसका लाभ उठायें और नियमों के मुताबिक भूस्वामी अधिकार प्राप्त करने की दिशा में आगे बढ़ें। 

*अतिक्रमण हटाएं-* कलेक्टर ने कहा कि नगर की व्यवस्थित बसाहट के लिए अतिक्रमण की विशेष रूप से मानिटरिंग करें। जहाँ पर अतिक्रमण हुए हैं वहाँ पर कार्रवाई करें। जिन मामलों में वैकल्पिक व्यवस्थापन की व्यवस्था की गई है वहाँ व्यवस्थापन सुनिश्चित करें। 

*हाउसिंग बोर्ड कालोनी के सीवरेज प्रबंधन के संबंध में निर्देश-* बैठक में वार्ड क्रमांक 14 और 15 में हाउसिंग बोर्ड कालोनी के सीवरेज का विषय भी आया। इस विषय पर हाउसिंग बोर्ड से समन्वय कर यह समस्या दूर करने के निर्देश कलेक्टर ने दिये। उन्होंने कहा कि जहाँ कहीं भी सीवरेज का सिस्टम पुराना पड़ गया है वहाँ इसे ठीक करने अथवा वैकल्पिक सिस्टम तैयार करने की दिशा में  काम करें। 

*बड़े कामों की प्रगति की समीक्षा की-* कुम्हारी में लगभग चार करोड़ रुपए की लागत से पालिका का भवन तैयार हो रहा है। कलेक्टर ने कहा कि भवन की गुणवत्ता के साथ ही इसका एलीवेशन डिजाइन भी अच्छा होना चाहिए। साथ ही उन्होंने स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल के एलीवेशन डिजाइन के संबंध में भी निर्देश दिये। कलेक्टर ने तालाब सौंदर्यीकरण के कार्यों की समीक्षा भी की। शहर में खेल अधोसंरचना को बेहतर करने फ्लड लाइट वाला स्टेडियम तैयार किया जा रहा है जो खेल इंफ्रास्ट्रक्चर की दिशा में खिलाड़ियों के लिए विशेष सौगात होगा। कलेक्टर ने गोधन न्याय योजना की समीक्षा भी की। उन्होंने कहा कि गौठानों को स्वावलंबी बनाएं। कंपोस्ट खाद का निर्माण एवं उसके विक्रय के संबंध में लगातार मानिटरिंग करते रहें।

*95 करोड़ रुपए की जलआवर्धन योजना के दूसरे फेज के प्रपोजल भेजने दिये निर्देश-* शहर में शुद्ध पेयजल की आपूर्ति के लिए जलआवर्धन योजना आरंभ की गई है। इसके दूसरे फेज के लिए प्रपोजल भेजने के निर्देश भी कलेक्टर ने दिये।