नेवई थाना प्रभारी हटाए गए, संतोष मिश्रा को प्रभारी के रूप में दी गई जिम्मेदारी,, रात्रि गोली कांड के बाद हुई कार्रवाई, जिला पुलिस अधीक्षक श्री अग्रवाल ने किया विभिन्न थानों का आकस्मिक निरीक्षण


दुर्ग, भिलाई। असल बात न्यूज़।

पिछले 4-5 दिनों से नेवई थाना क्षेत्र में विश्वास आपराधिक गतिविधियां घटित हो रही थी उससे  क्षेत्र के लोगों में दहशत का माहौल तो पैदा हो ही गया था, लोगों का मन तरह-तरह से आशंकित  भी था। सुपेला तथा कैंप क्षेत्र के युवकों ने वहां जाकर भारी उत्पात मचाया जिसके चलते 2 दिन तक वहां भारी गहमागहमी मची रही तो वही कल रात में कुछ लोगों पर राह रोक कर गोली चला दी गई। ग्रामीण परिवेश वाले से इस क्षेत्र में ऐसे अपराधिक गतिविधियां बढ़ जाएगी इसकी कभी किसी को उम्मीद नहीं थी। हालात बिगड़ते देख कर नेवई थाना के टी आई भावेश शाह को वहां से हटा दिया गया है। वहां का संतोष मिश्रा का थाना प्रभारी बनाया गया है।पदस्थ पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल ने भी आज नेवई थाने का आकस्मिक निरीक्षण किया।गोली कांड के आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी के लिए चार अलग अलग टीम बना दी गई है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार जिला पुलिस अधीक्षक श्री अग्रवाल ने निवाई थाना क्षेत्र में रात में गोली चलने की घटना को काफी गंभीरता से लिया है। विभिन्न जनप्रतिनिधियों सत्ता पक्ष के तमाम लोगों ने भी इस मामले में गहरी नाराजगी तथा चिंता जताई है। उसके बाद यहां के टीआई को बदल दिया गया है। 2 दिन पहले बाहर से आए तत्वों के द्वारा यहां हंगामा करने तथा व्यवसायियो  से मारपीट करने के मामले में भी यहां के लोगों में काफी आक्रोश व्याप्त है। उस दौरान स्थानीय लोगों द्वारा बड़ी संख्या में थाने पहुंचकर अपनी आपत्ति दर्ज कराई गई थी तथा बाहर से आकर गुंडागर्दी करने वाले अपराधिक तत्वों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की गई थी। उसके बाद कल रात को राह रोक कर गोली चला देने की घटना हो गई। इस तरह से वहां बढ़ते जा रहे अपराधों से क्षेत्र के लोगों का गुस्सा भी बढ़ता जा रहा है।फिलहाल 05. जुलई की दरमियानी रात में घटित गोलीकांड की घटना में आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी हेतु चार अलग-अलग  टीम गठित कर दी गई है अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर श्री संजय ध्रुव के नेतृत्व में सीएसपी भिलाई नगर श्री राकेश जोशी, निरीक्षक नरेश पटेल, निरीक्षक गौरव तिवारी तथा नव पदस्थ थाना प्रभारी नेवई संतोष मिश्रा को शामिल करते हुए चार अलग-अलग टीम बनाई गई।

जिला पुलिस अधीक्षक अग्रवाल के द्वारा शहर के थाना नेवई के  आकस्मिक निरीक्षण के दौरान गोली कांड की जांच के लिए गठित   टीम को तकनीकी विश्लेषण, घटना स्थल के आसपास सीसीटीवी फुटेज, सूचना संकलन कर घटना मे शामिल आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार करने हेतु मार्गदर्शन दिया गया। इसी दौरान थाना नेवई के अपराध डायरी, मर्ग डायरी, शिकायतों का अवलोकन किया एवं पेंडिंग मामलों के निराकरण हेतु त्वरित निराकरण हेतु थाना प्रभारी एवं विवेचको को निर्देशित किया।

 नव पदस्थ पुलिस अधीक्षक दुर्ग  प्रशांत अग्रवाल के द्वारा पदभार ग्रहण करने के बाद दूसरे दिन जिला दुर्ग के शहर एवं देहात के थानों का आकस्मिक निरीक्षण किया गया। जिसमें थाना रानीतराई, पाटन, नेवई  का निरीक्षण किया गया। 

             थाना रानीतराई के मर्ग, शिकायत अपराध, मुलाहिजा  रजिस्टर, अन्य महत्वपूर्ण रजिस्टर का अवलोकन किया गया। पुलिस अधीक्षक महोदय के द्वारा थाने का औचक निरीक्षण में थाने का रखरखाव साफ-सफाई दस्तावेज का रखरखाव एवं मामलों की जानकारी एवं कार्य सामान्य स्तर का पाया गया।  कर्मचारियों से उनके समस्याओं के बारे में जाना और निराकरण के लिए थाना प्रभारी को निर्देशित किया।

थाना रानीतराई के मर्ग, शिकायत अपराध, मुलाहिजा  रजिस्टर, अन्य महत्वपूर्ण रजिस्टर का अवलोकन किया गया। 

               पुलिस अधीक्षक श्री अग्रवाल के द्वारा थाना पाटन का भी औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण में महत्वपूर्ण दस्तावेजों का अवलोकन किया गया। थानों में पेंडिंग मामलों की जानकारी प्राप्त की एवं थाने में उपस्थित सभी कर्मचारियों से रूबरू होकर सतर्क और सजग रहकर ड्यूटी करने एवं ड्यूटी के दौरान आने वाली किसी भी प्रकार की समस्या के लिए थाना प्रभारी एवं वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराने हेतु कहा गया। जिससे उसका निराकरण तत्काल किया जा सके। निरीक्षण के दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पाटन आकाश राव गिरेपुंजे उपस्थित थे। 

एक दिन पहले सुपेला थाने के एएसआई को किया गया निलंबित

           उल्लेखनीय है कि पुलिस अधीक्षक दुर्ग  प्रशांत अग्रवाल के द्वारा एक दिन पहले जिला दुर्ग के शहर एवं देहात के थानों का आकस्मिक निरीक्षण किया गया था। ।इस दौरान ए.एस.आई करण सोनकर को कमजोर विवेचना एवं कार्य में लापरवाही एवं निम्न स्तर का पाए जाने पर तत्काल प्रभाव से निलंबित कर रक्षित केंद्र दुर्ग संबंध किया गया। वहीं सुपेला थाना के लंबित शिकायतों को लेकर थाना प्रभारी से स्पष्टीकरण मांगा गया है।थाना प्रभारी सुपेला को थाने की कार्यप्रणाली को चुस्त-दुरुस्त करने हेतु निर्देशित किया गया है।