एस.आई.आर.डी. प्रदेश भर के 494 बेयरफुट टेक्नीशियन्स को देगा वर्चुअल प्रशिक्षण

 

मनरेगा में कार्यरत बेयरफुट टेक्नीशियन्स को कोविड अनुकूल व्यवहार के बारे में दिया जाएगा प्रशिक्षण


रायपुर. । असल बात न्यूज।

 मनरेगा (महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम) कार्यस्थलों पर कोविड अनुकूल व्यवहार सुनिश्चित करने योजना के अंतर्गत नियोजित बेयरफुट टेक्नीशियन्स (बी.एफ.टी.) को प्रशिक्षण दिया जाएगा। पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव के निर्देश पर राज्य मनरेगा कार्यालय द्वारा योजना के अंतर्गत प्रदेश भर में कार्यरत 494 बेयरफुट टेक्नीशियन्स के ऑनलाइन प्रशिक्षण की कार्ययोजना तैयार की गई है। ठाकुर प्यारेलाल राज्य पंचायत एवं ग्रामीण विकास संस्थान, निमोरा (एस.आई.आर.डी.) द्वारा 3 अगस्त और 5 अगस्त को अलग-अलग ऑनलाइन सत्रों में बेयरफुट टेक्नीशियन्स को प्रशिक्षण दिया जाएगा। एस.आई.आर.डी. ने सभी जिला पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को परिपत्र जारी कर प्रशिक्षण के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए हैं। 


मनरेगा कार्यस्थलों में जरुरी सावधानियों और संक्रमण से बचाव के लिए इससे पहले ग्राम रोजगार सहायकों को भी कोविड अनुकूल व्यवहार का प्रशिक्षण दिया जा चुका है। इन प्रशिक्षणों से सिविल कार्य आधारित मनरेगा निर्माण कार्यों में नियोजित श्रमिकों के मध्य कोरोना संक्रमण से बचने जरूरी सावधानियों और उपायों को लागू करने में सहायता मिलेगी। बेयरफुट टेक्नीशियन्स और ग्राम रोजगार सहायक मनरेगा श्रमिकों को भी इस बारे में बेहतर ढंग से सेन्सिटाइज कर पाएंगे। राज्य मनरेगा कार्यालय के अधिकारियों ने बताया कि निमोरा स्थित ठाकुर प्यारेलाल राज्य पंचायत एवं ग्रामीण विकास संस्थान के माध्यम से कोविड अनुकूल व्यवहारों पर बेयरफुट टेक्नीशियन्स के लिए 3 अगस्त और 5 अगस्त को वीडियो कॉन्फ्रेंस नेटवर्क व लिंक के माध्यम से ऑनलाइन प्रशिक्षण आयोजित किया जा रहा है। इसके लिए संभागवार अलग-अलग तिथि एवं समय निर्धारित की गई है। रायपुर, दुर्ग और बिलासपुर संभाग के बेयरफुट टेक्नीशियन्स के लिए 3 अगस्त को और सरगुजा व बस्तर संभाग के लिए 5 अगस्त को प्रातः 11 बजे से 2 बजे तक वर्चुअल प्रशिक्षण का आयोजन किया गया है। 


एस.आई.आर.डी. द्वारा प्रशिक्षण के दौरान कोविड-19 के संबंध में शासन द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए जिलों में प्रत्येक प्रशिक्षण केन्द्र में अधिकतम दस प्रतिभागियों के बैठने की व्यवस्था करने कहा गया है। प्रशिक्षण के दौरान पूरे समय कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करने के निर्देश दिए गए हैं। ऐसे प्रतिभागी जो किसी केन्द्र में नहीं बैठ पा रहे हैं और जो मोबाइल, डेस्कटॉप या लेपटॉप के माध्यम से प्रशिक्षण में शामिल होंगे, उनके लिए निर्धारित प्रशिक्षण तिथि से एक दिन पहले ऑनलाइन-लिंक भेजने की व्यवस्था भी की गई है। प्रशिक्षण की मॉनिटरिंग के लिए इसमें शामिल प्रतिभागियों की सूची प्रशिक्षण के बाद एस.आई.आर.डी. को उपलब्ध कराने के निर्देश भी सभी जिलों को दिए गए हैं।


*प्रदेश भर में अभी 494 बेयरफुट टेक्नीशियन्स कार्यरत*


प्रदेश भर में अभी 494 बेयरफुट टेक्नीशियन्स मनरेगा के माध्यम से हो रहे निर्माण कार्यों में तकनीकी मार्गदर्शन देने का काम कर रहे हैं। रायपुर संभाग में 94, दुर्ग संभाग में 92 बिलासपुर संभाग में 146, बस्तर संभाग में 64 और सरगुजा संभाग में 98 बेयरफुट टेक्नीशियन्स काम कर रहे हैं।