कर्ज ना चुका ना पड़े इसलिए कर दी हत्या, पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार किया

 

थाना भट्टी पुलिस की कार्यवाही 

भिलाई इस्पात संयंत्र में हुए हत्या का आरोपी 24 घंटे के अंदर गिरफ्तार 

कर्ज चुकाने से बचने के लिए बना हत्यारा 

धोखे से प्लांट के अंदर बुलाकर ही किया मृतक जगत राम की सुनियोजित हत्या

मृतक के सोने की चैन, अंगूठी व आलाजरब आरोपी के निशानदेही पर बरामद 


भिलाई। असल बात न्यूज।

वे दोनों साथ में काम करते थे भिलाई इस्पात संयंत्र में। मामला सामने आया है कि वेंकटेश्वर राव ने कर्जा ले लिया और वह यह कर्जा चुकाने से बचना चाहता था।इससे बचने के लिए उसने अपने ही दोस्त की हत्या कर दी। पिछले दिनों भिलाई इस्पात संयंत्र के एसएमएस 02 सीसीएस में एक अज्ञात व्यक्ति की लाश मिली थी उसकी मौत हो गई है और उसका हत्याया किया जा भी स्पष्ट हो गया है। पुलिस नेेेे मामले में आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। 

मामले के अनुसार थाना छावनी में श्रृषभ पिता जगतराम निवासी मदर टेरेसा नगर छावनी के द्वारा अपने पिता जगत राम उम्र 55 साल के गुमशुदगी की रिपोर्ट थाना छावनी में दर्ज कराई थी।  प्रार्थी के अनुसार उसके पिता गुमशुदा जगत राम उके बीएसपी कर्मचारी थे। पिछले 19 जुलाई को जनरल शिफ्ट ड्यूटी आए थे। ड्यूटी के बाद से घर नहीं पहुंचे थे। इस दौरान गुमशुदा की गाड़ी दिनांक 20.07.2021 को बीएसपी प्लांट एसएमएस 02 के पास खड़ी मिली। आस पास पता तलाश किया गया पता नहीं चला। गुमशुदा की बीएसपी प्लांट के एसएमएस 02 के आस पास पता तलाश करने के दौरान सूचना मिली की एसएमएस 02 सीसीएस में एक अज्ञात व्यक्ति की लाश मिली है।

 सूचना पर तत्काल मौके पर पहुंचकर सूचनाकर्ता बीएसपी कर्मचारी हरिप्रसाद यादव द्वारा बताया गया कि मशीन नंबर 06, सिगमेंट प्लांट 1-2 के पास एसएमएस 2 सीसीएस 6.5 मीटर कास्टर 6 ग्रीस स्टेशन बीएसपी प्लांट में बंद दरवाजे के अंदर अज्ञात व्यक्ति का शव प्लेट फार्म पर फुला हुआ चमड़ी फफोले निकले जैसा काला रंग सा हालत में मिला है। मौके पर बिना नंबरी मर्ग इंटीमेशन लिया जाकर शव पंचनामा कार्यवाही लिया गया। घटना की गंभीरता को देखते हुए  पुलिस अधीक्षक  प्रशांत अग्रवाल के निर्देश पर  अति0 पुलिस अधीक्षक  संजय ध्रुव, अति0 पुलिस अधीक्षक  ग्रामीण  अनंत कुमार,  नगर पुलिस अधीक्षक भिलाई नगर राकेश जोशी, श्रीमान नगर पुलिस अधीक्षक छावनी विश्वास चंद्राकर वरि0 वैज्ञानिक अधिकारी एफएसएल युनिट  मोहन पटेल ने घटना स्थल पर पहुंचकर घटना स्थल का मुआयना किया।  मामला संदेहास्पद प्रतीत हुआ । वरि0 अधिकारियों द्वारा तत्काल थाना प्रभारी भट्टी निरीक्षक भूषण एक्का, थाना प्रभारी सुपेला निरीक्षक सुरेश ध्रुव, थाना प्रभारी छावनी निरीक्षक विशाल सोन सायबर सेल प्रभारी निरीक्षक गौरव तिवारी को मामले की हर पहलुओं की गंभीरता एवं सूक्ष्मता से जांच कर मामले को सुल्झाने का निर्देश दिया गया। तत्काल घटना स्थल पर डाॅग स्क्वाड के द्वारा मुआयना करवाया गया। एफएसएल प्रभारी श्री पटेल के द्वारा बारिकी से शव का निरीक्षण किया गया।  मृतक के शार्ट पीएम रिपोर्ट के आधार पर अज्ञात आरोपी द्वारा मृतक को किसी औजार से मारकर हत्या कर मृतक के शव को साक्ष्य मिटाने के लिए दरवाजा के अंदर छुपाकर साक्ष्य को मिटाने का प्रयास किया जाना पाए जाने पर अज्ञात आरोपी के विरूद्ध थाना भट्टी में अपराध  धारा 302,201 भादवी कायम किया जाकर प्रकरण की सूक्ष्मता से जांच की गई ।  

अपराध विवेचना के दौरान मृतक जगत राम के संबंध में जानकारी प्राप्त की गई। बीएसपी के मृतक के सहकर्मियों एवं अधिकारियों से घटना के दिनांक को प्लांट आने जाने के संबंध में जानकारी प्राप्त की गई तथा आने जाने वाले स्थान के सीसीटीव्ही फुटेज प्राप्त किए गए तथा मृतक के परिजनों से मृतक के दिनचर्या के संबंध में जानकारी प्राप्त की गई। पता साजी के दौरान प्रत्यक्षदर्शियों के द्वारा मृतक जगत राम को आर व्यंकटेश्वर राव के साथ करीबन 5.30 बजे शाम को अंतिम बार देखा गया था। इस संबंध में मृतक के पुत्र के द्वारा व्यंकटेश्वर राव से मिलने जाना बताकर घर से निकलना अपने कथन में बताया था चूंकि व्यंकटेश्वर राव की ड्यूटी रात्रि के समय थी शाम 5.30 बजे मृतक के साथ अंतिम बार देखे जाने से संदेह के दायरे में आने पर तत्काल विशेष टीम द्वारा संदेही को हिरासत में लिया जाकर कड़ाई से पूछताछ किए जाने पर संदेही के द्वारा मृतक से विगत 07 वर्षों से एसएमएस 01 में साथ काम करना तथा घटना दिनांक को समय लगभग 5.30 बजे मृतक के साथ में होना तथा बाद में मृतक को वापस चले जाना बताया मृतक से मिलने के कारणों के संबंध में पूछताछ करने पर गोल मोल जवाब देने लगा।

  कड़ाई से पूछताछ करने पर आरोपी द्वारा मृतक से डेढ़ लाख रूपये कर्जा लेना व कर्जा वापस न देना पड़े इसलिए उसको सोना देने के बहाने घटना स्थल मशीन नंबर 06, सिगमेंट प्लांट 1-2 के पास एसएमएस 2 सीसीएस 6.5 मीटर कास्टर 6 ग्रीस स्टेशन बीएसपी प्लांट में बुलाकर आने पर धोखे से अपने पास रखे लोहे के राड से मृतक के सिर पर वार कर चोंट पहुंचाकर हत्या करना तथा मृतक के शव को डिस्पोज करने के लिए वहां पर एक बंकर में शव को डालकर बाहर से बंद कर देना बताया तथा घटना के बाद संदेही मृतक जगत राम को खोजबीन करने का नाटक करता रहा जिससे पुलिस को उस पर संदेह न हो। आरोपी व्यंकटेश्वर राव के निशानदेही पर मृतक के शरीर में पहने हुए सोने की अंगूठी, चैन व हत्या में प्रयुक्त आलाजरब बरामद किया गया। आरोपी व्यंकटेश्वर राव तथा अपने कर्तव्य स्थल में राड से मारकर हत्या कर देने की बात कबूल करने पर अपराध में गिरफ्तार किया गया। उपरोक्त कार्यवाही में प्रधान आरक्षक लल्लन सिंह, चंद्रशेखर बंजीर, संतोष मिश्रा एवं आरक्षक तारकेश्वर साहू, अब्दुल शफीक, मुरली सोनी, राजेन्द्र बंसोड़, शैलेष यादव, हीरालाल देशमुख, विजय शुक्ला, रवि यादव एवं सूर्यप्रकाश साहू की उल्लेखनीय भूमिका रही।