हर जगह व्यवसायिकता फायदेमंद नहीं, समाज को, जागरूक लोगों को गंभीरतापूर्वक चिंतन करना होगा कि बागवानी, नैतिक शिक्षा की कक्षाएं क्यों बंद हुई

 

भिलाई। असल बात न्यूज़।

0  विशेष संवाददाता

भारतीय जनता पार्टी के 42 वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर दुर्ग जिले में पार्टी ने इस साल पंडित श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी की जयंती से 42 हजार पौधे रोपने तथा उसके संरक्षण का लक्ष्य रखा है तो क्षेत्र के सांसद विजय बघेल यहां वृक्षारोपण के लगभग प्रत्येक कार्यक्रमों में शामिल हो रहे हैं और वृक्षारोपण कर रहे हैं।वे अपने प्रत्येक कार्यक्रमों में लोगों को पौधे रोकने के लिए प्रेरित कर रहे हैं। सांसद श्री बघेल लोगों से जन्मदिन  पर एक पौधा जरूर रोपने तथा उसको संरक्षित करने की जरूर अपील करते हैं।  अंधाधुंध कटाई से पेड़- पौधों की लगातार कम होती जा रही संख्या तथा आम लोगों में पेड़ों को बचाने के प्रति अधिक रुचि नहीं होने तथा  सरकारी कार्यक्रमों के लचर हालत पर चलते,वे भावुक भी हो उठते हैं। वे कहते हैं ऑक्सीजन हमारे जीवन के लिए कितना महत्वपूर्ण है,  यह अब सभी लोगों ने समझ लिया है। शुद्ध हवा, छाया, लकड़ी सभी को चाहिए लेकिन कोई वन, जंगल को बचाने के लिए आगे नहीं आना चाहता। जबकि यह सिर्फ जनभागीदारी जन सहयोग से ही संभव सकता है।

अभी आयोजित हो रहे वृक्षारोपण के कार्यक्रमो में अपने स्कूली दिनों को याद करते हुए वे भावुक हो उठते हैं और चिंता व्यक्त करते हुए कहते हैं-अभी सब कुछ व्यवसायिक हो गया है। ऐसा लगता है कि सिर्फ एक लक्ष्य, नौकरी पाने के लक्ष्य तक ही हम सीमित होकर रह गए हैं।  नई पीढ़ी को हमारे संस्कृति संस्कार की शिक्षा भी मिलनी चाहिए लेकिन इसमें हम पीछे हो गए हैं।  पहले नीति शास्त्र, बागवानी की कक्षाएं होती थी। बच्चों को पौधे रोपने तथा उसे संरक्षित रखने के बारे में जानकारी दी जाती थी। अब ये सब संस्कार, शिक्षा पुराने दिनों की बातें हो गई है। स्कूलों महाविद्यालयों को ऐसे विषयों को पढ़ाने में दिलचस्पी नहीं रह गई है,ऐसा संभवत व्यवसायिक फायदा कमाने की सोच के चलते हो गया । शैक्षणिक संस्थानों को भी अब नीतिशास्त्र बागवानी की शिक्षा देने में ज्यादा फायदा नजर नहीं आता। सांसद विजय बघेल कहते हैं कोरोना संकट  के समय में अभी ऑक्सीजन को लेकर किस तरह से त्राहि-त्राहि मची है। ऑक्सीजन के बिना हजारों लोगों की जान चली गई है। इससे सभी को सबक लेना चाहिए।समझना चाहिए कि पेड़ पौधे हमारे लिए कितने महत्वपूर्ण उपयोगी हैं।

वृक्षारोपण के कार्यक्रमों में वे लोगों को यह भी बताते हैं कि हरियाली, वन क्षेत्र जंगल के मामले में भारत देश, दुनिया में कितना पीछे हो गया है। उन्होंने बताया कि  दुनिया में प्रति व्यक्ति पेड़ पौधे 225 के आसपास हैं तो भारत में प्रति व्यक्ति सिर्फ 29 पेड़ पौधे बचे हैं।इस तरह से जंगल वन के मामले में भारत लगातार पिछड़ता जा रहा है।

अपने वृक्षारोपण कार्यक्रम की सफलता के बारे में वे बताते हैं कि हम इस कार्यक्रम के लक्ष्य के अनुरूप वृक्षारोपण करने में काफी सफल रहे हैं। जन सहयोग से अभी तक 35 हजार से अधिक पौधों का रोपण कर लिया गया है।

उन्होंने आज हमर हरियर भुइंया समिती हथखोज व सेन्टथामस महाविद्यालय रुआबांधा  बघेल ने व्यापक वृक्षारोपण किया।   उन्होंने सभी से अधिक से अधिक पेड़ लगाकर उसकी सुरक्षा करने की अपील की।

सेंट थॉमस महाविद्यालय के एनएसएस, एनसीसी एवं इको क्लब के संयुक्त तत्वावधान में महाविद्यालय प्रांगण में पौधारोपण का कार्यक्रम आयोजित किया गया| इसमें भी सांसद श्री बघेल  मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए | कार्यक्रम में सर्वप्रथम महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ एम जी. रोईमोन ने उनका, रुआबांधा सेक्टर के पार्षद  रंगबहादुर सिंह, एवं महाविद्यालय के कर्मचारियों एवं विद्यार्थियों का स्वागत करते हुए कहा कि पर्यावरण की सुरक्षा एवं स्वच्छता हम सभी का सर्वप्रथम दायित्व है| वैश्विक महामारी कोरोना की दूसरी लहर के समय देशव्यापी स्तर पर हमनें ऑक्सीजन की भारी कमी की समस्या का सामना किया था | हम सभी एक पेड़ लगाकर पर्यावरण की रक्षा करने में अपना योगदान जरूर दें|  मुख्य अतिथि सांसद महोदय श्री विजल बघेल ने कहा कि मनुष्य का जीवन एवं पर्यावरण दोनों एक दुसरे के पर्याय हैं| वृक्ष के बिना हम अधूरे हैं| वृक्ष हमें वर्षा, फल-फुल, प्राणवायु ,एवं सभी क्षेत्रों में विकास करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं| एक चीटीं से लेकर सम्पूर्ण मानवजाति के लिए वृक्ष वरदान हैं तो हमें भी पर्यावरण के प्रति अपनी ज़िम्मेदारी अवश्य निभानी चाहिए।  सभी उपस्थित जनों को  अपने जन्मदिन पर प्रतिवर्ष एक पेड़ अवश्य लगाने तथा अगले जन्म दिन तक उसकी सुरक्षा करने का संकल्प दिलाया। 

  कार्यक्रम में समाजसेविका शानू मोहनन, रिसाली मंडल के जनप्रतिनिधि पप्पू दीपक चंद्राकर, अमृत देवांगन, महामंत्री ललित चंद्राकर, मनीष यादव, विधि यादव एवं विशालदीप नायर का इस पौधारोपण के कार्यक्रम में विशेष सहयोग रहा| इस अवसर पर मुख्य अतिथि के साथ एनएसएस एवं एनसीसी के छात्रों एवं महाविद्यालय के स्टाफ ने विभिन्न प्रकार के फलदायी एवं छायादार पौधे लगाये| इस कार्यक्रम का संचालन महाविद्यालय के एनएसएस कार्यक्रम अधिकारी महेंद्र इखार ने किया एवं धन्यवाद ज्ञापन महाविद्यालय के एनसीसी अधिकारी लेफ्टिनेंट डॉ लक्ष्मण प्रसाद ने दिया|