सेंट थॉमस महाविद्यालय द्वारा आयोजित 10 दिवसीय आपदा प्रबंधन विषय पर प्रमाणपत्र पाठ्यक्रम का दुर्ग विश्वविद्यालय की कुलपति ने किया उद्घाटन

 

एन सी सी एवं आइक्यूएसी विभाग का संयुक्त आयोजन


भिलाई नगर । असल बात न्यूज़।

 सेंट थॉमस महाविद्यालय के एनसीसी विंग एवं आइक्यूएसी द्वारा आपदा प्रबंधन विषय पर 10 दिवसीय ऑनलाइन प्रमाण पत्र आधारित पाठ्यक्रम का उद्घाटन मुख्य अतिथि हेमचंद यादव विश्वविद्यालय दुर्ग की कुलपति डॉ अरुणा पलटा के द्वारा किया गया। अध्यक्षता महाविद्यालय के प्रशासक एवं एमजीएम समूह के शिक्षा अधिकारी वेरी रेवरेंट फादर डॉ जोशी वर्गीस ने की। विशेष अतिथि हेमचंद यादव विश्वविद्यालय दुर्ग के अधिष्ठाता छात्र कल्याण डॉ प्रशांत श्रीवास्तव थे।

महाविद्यालय की प्रार्थना से कार्यक्रम की शुरुआत की गई। महाविद्यालय के प्रबंधक मैनेजर बिशप हिस ग्रेस डॉ जोसेफ मार डायनोशियस ने कार्यक्रम आयोजन के लिए दोनों ही विभागों को शुभकामनाएं दी।

मुख्य अतिथि, हेमचंद यादव विश्वविद्यालय दुर्ग के कुलपति डॉ अरुणा पलटा , सेंट थॉमस कॉलेज के प्रशासक वेरी रेवरेंट फादर डॉ जोशी वर्गीस, आईक्यूएसी समन्वयक डॉ. देबजानी मुखर्जी, संस्था की डीन ऑफ एकेडमिक्स डॉ. विनीता थॉमस और  अतिथि वक्ता  विशाल वासवानी की उपस्थिति में कार्यक्रम की शुरुआत की गई। स्वागत भाषण महाविद्यालय के प्राचार्य डॉक्टर एमजी रोईमोन ने दिया। इसके पश्चात आइक्यूएसी सेल की समन्वयक डॉ. देबजानी मुखर्जी ने कार्यक्रम की रूपरेखा के संबंध में जानकारी दी। एएनओ डॉ सुरेखा जवादे ने कार्यक्रम को संबोधित करने के लिए कुलपति को आमंत्रित किया । कुलपति डॉ. अरुणा पल्टा ने कहां कि सेंट थॉमस महाविद्यालय के द्वारा बहुत ही महत्वपूर्ण विषय पर प्रमाण पत्र पाठ्यक्रम का आयोजन किया गया है इसके लिए कॉलेज बधाई का पात्र है निश्चित रूप से इस प्रमाणपत्र पाठ्यक्रम का लाभ प्रतिभागियों को प्राप्त होगा। 

कार्यक्रम की शुरुआत उद्घाटन सत्र के बाद हुई। अतिथि वक्ता यूनिसेफ इंडिया के विशाल वासवानी ने प्रतिभागियों को संबोधित किया और सत्र को  सूचनात्मक स्लाइडों के माध्यम से और प्रतिभागियों के साथ लगातार जुड़ाव के माध्यम से एक संवादात्मक सत्र प्रस्तुत किया। सत्र में 190 से अधिक प्रतिभागियों ने भाग लिया।

सत्र का संचालन लेफ्टिनेंट डॉक्टर सुरेखा जवादे एवं समापन एएनओ डॉ. लक्ष्मण प्रसाद द्वारा प्रस्तुत धन्यवाद प्रस्ताव से हुआ। उन्होंने उपस्थित सभी प्रतिष्ठित व्यक्तियों, अतिथि वक्ता श्री विशाल वासवानी सर और सभी उत्साही प्रतिभागियों को उनके समय और धैर्य के लिए धन्यवाद दिया। एएनओ के निर्देशन में कार्यक्रम सुचारू रूप से चला।