अनुसूचित जाति जनजाति वर्ग के सभी मामलों का शीघ्र निराकरण करने कहा गया

 दुर्ग । असल बात न्यूज़ ।


अनुसूचित जाति जनजाति अत्याचार निवारण की जिला स्तरीय सतर्कता एवं मानिटरिंग समिति के सदस्यों ने समिति के समक्ष लंबित मामलों का  शीघ्र निराकरण करने को कहा है। समिति की कार्यकारी समिति की आज बैठक हुई जिसमें उक्त तमाम मुद्दे पर चर्चा की गई।


आदिवासी विकास विभाग के द्वारा आयोजित समिति की इस दो माह की अवधि में होने वाली बैठक की अपर कलेक्टर बी बी पंच भाई ने अध्यक्षता की। समिति के सभी सदस्य तथा प्रतिनिधि बैठक में उपस्थित थे।


बैठक में आदिवासी विकास विभाग के सहायक आयुक्त Priyamvada ramteke  के द्वारा विभाग को प्राप्त प्रकरणों, पुलिस तथा अजाक थाने में दर्ज की गई शिकायतो और लोक अभियोजक के द्वारा  अनुसूचित जाति, जनजाति अधिनियम के अंतर्गत दर्ज कराए गए प्रकरणों के बारे में जानकारी दी तथा उस पर समीक्षा की गई।


सदस्यों को तथा प्रतिनिधि यो ने इन मामलों के निराकरण के लिए किए गए उपायों पर संतोष जाहिर किया तथा लंबित प्रकरणों का आगामी बैठक तक निराकरण कर लेने को कहा। कोविड-19 के संकरण के फैलाव के फल स्वरुप अनुसूचित जाति तथा जनजाति वर्ग से संबंधित विभिन्न मामले भी न्यायालयों में लंबे समय से लंबित है जिसके बारे में सदस्यों तथा प्रतिनिधियों ने प्राथमिकता के आधार पर सुनवाई करने के लिए आवेदन देने को कहा।


बैठक में जिला खनिज अधिकारी के के गोलघाटे, उपसंचालक समाज कल्याण विभाग डी पी ठाकुर, विशेष लोक अभियोजक के के कुशवाहा, अजाक थाना प्रभारी, मंत्री प्रतिनिधि उत्तरा कोसते, सांसद प्रतिनिधि मनोज शर्मा, तथा विधायक प्रतिनिधि भोजराज सिन्हा उपस्थित थे।