रोका छेका अभियान के तहत निगम क्षेत्र में 24 अवारा पशुओं की हुई धरपकड़

 


जीई रोड से पकड़े गए आवारा पशुओं को निगम के शहरी गौठान में रखा जा रहा 


भिलाईनगर। असल बात न्यूज़।

 नगर पालिक निगम भिलाई, क्षेत्र अंतर्गत सड़कों पर घूमने वाले आवारा पशुओं की धरपकड़ की जा रही है, साथ ही निगम का अमला पशुपालकों से रोका-छेका संकल्प अभियान के तहत पशु मालिकों समझाईश दी जा रही है कि वे अपने मवेशी के चारा पानी की समुचित व्यवस्था स्वंय करेंगे। शासन के निर्देश के परिपालन में  इस कार्य के लिए निगम के एक दल का गठन किया गया है।

 रोका-छेका संकल्प अभियान के तहत पशु मालिकों को अपने मवेशी की सुरक्षा स्वंय करने, चारा, पानी की समुचित व्यवस्था करने, आसपास के खेतों में फसलों तथा उद्यानों में पालतू मवेशियों का प्रवेश रोकने हेतु तथा पशुपालन से उत्सर्जित होने वाले अपशिष्ट के लिए कंपोस्टिंग हेतु व्यवस्था करने भिलाई निगम क्षेत्र में संकल्प पत्र भराया जा रहा है।

भिलाई निगम के उपायुक्त अशोक द्विवेदी ने बताया कि सड़कों पर आवारा पशुओं के घूमते हुए पाए जाने पर पशु पालकों पर होगी कार्यवाही होगी। छत्तीसगढ़ शासन के द्वारा गौधन को सुरक्षित एवं संरक्षित करने के लिए भरपूर प्रयास किए जा रहे हैं। सड़कों पर आवारा घूमने वाले पशु जो यातायात में बाधक बन कर दुर्घटना का कारण बनते हैं जिससे होने वाली दुर्घटना में पशुधन एवं जनधन की हानि होती है। निगम की अपील है कि इससे बचने के लिए पशुपालक अपने पालतू मवेशियों को सड़कों पर आवारा घूमने न दें। आवारा पशुओं को पकड़ने के लिए गठित दल के नोडल प्रकाश अग्रवाल ने बताया कि दल ने आज से कार्य प्रारंभ कर दिया है, पहले दिन दल नेहरू नगर चैक, सुपेला चैक, गदा चैक, खुर्सीपार व डबरापारा चैक तक निरीक्षण किए इस दौरान सड़क किनारे घूम रहे 24 आवारा पशुओं की धरपकड़ की गई। रोका छेका अभियान के तहत पकड़े गए पशुओं में 16 गाय और 6 बछिया है, इन्हें निगम द्वारा संचालित शहरी गौठान में रखा गया है। 

रोका छेका के लिए गठित दल में इन्हें किया गया शामिल - 

रोका छेका अभियान के तहत आवारा पशुओं को पकड़ने के लिए भिलाई निगम प्रशासन द्वारा दो दल का गठन किया गया है, प्रथम दल में जोन 01 एवं जोन 02 क्षेत्र के लिए शरद दुबे एवं धीरज साहू के साथ कन्हैया लाल, खेमलाल यादव, चैतुराम राउत, गोपी मारकण्डे, विजय बंजारे। इसी प्रकार दूसरे दल में जोन 03 एवं जोन 04 क्षेत्र के लिए संजय वर्मा एवं जगदीश तिवारी के साथ गौकरण कुर्रे, मंगल जांगड़े, विष्णु प्रसाद सोनी, राजेन्द्र सिंह, वैलेटिनी, राजन शामिल है।