रेमडेसिविर के लिए परेशान होने की जरूरत नहीं, ना ही उसे कालाबाजारी से खरीदने की जरूरत, यह शीघ्र ही सभी जगह मिलने लगेगी

 

देश भर में रेमडेसिविर की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश, 23 मई 2021 तक इसका आवंटन- केंद्रीय रसायन मंत्री डी. वी. सदानंद गौड़ा

देश भर में बदलती जरूरतों के अनुसार आवंटन में बदलाव किया गया

नई दिल्ली। असल बात न्यूज़।
कोरोना संक्रमण के उपचार में हर जगह रेमदेसीविर दवाई की मांग की जा रही है तथा इसके अनुपलब्धता की वजह से लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इस दवाई की बड़े पैमाने पर कालाबाजारी होने की भी शिकायतें सामने आई है और ऐसे मामले में कई लोगों को पकड़ा भी गया है जो कि ₹900 के इंजेक्शन को ₹50 हजार रुपए तक में बेच रहे थे। छत्तीसगढ़ में भी विभिन्न जिलों में ऐसे मामले सामने आए हैं जिसमें अंतर प्रादेशिक गैंग के लोगों के शामिल होने की आशंका है। सरकार ने विश्वास दिलाया है कि अब इस दवाई के लिए लोगों को परेशान होने की जरूरत नहीं है यह दवाई  सभी जगह उपलब्ध करवाई जा रही है।

 

हर राज्य में रेमडेसिविर की आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए और इसकी पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करते हुएकेंद्रीय रसायन और उर्वरक मंत्री  डी. वी. सदानंद गौड़ा ने  तक किए गए रेमडेसिविर के आवंटन की घोषणा की। उन्होंने कहा कि रेमडेसिविर के समग्र उत्पादन और आवंटन में पर्याप्त वृद्धि र्मास्युटिकल विभाग और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा सभी राज्यों को पत्र लिखा गया है।

यह आवंटन राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के लिए किया गया है और राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों को दवा का उचित और विवेकपूर्ण उपयोग करने को कहा गया है। 

राज्य सरकारों/केंद्र शासित प्रदेशों को सलाह दी गई है कि वे विपणन कंपनियों से पर्याप्त खरीद की मात्रा के लिए शीघ्र आदेश दें यदि उन्होंने पहले से ही ऐसा नहीं किया है और जिसे वे कंपनियों के संपर्क अधिकारियों के करीबी समन्व्यय के साथ आपूर्ति श्रृंखला के अनुसार राज्य/ केन्द्र शासित प्रदेश के लिए आवंटन के अलावा खरीदना चाहते हैं। राज्य में निजी वितरण माध्यमों से भी समन्वय स्थापित किया जा सकता है।