फोन पे से बिजली बिल का भुगतान तो नहीं हुआ, कोड जालसाजो के हाथ लग गया, पुलिस के सहयोग से धोखाधड़ी से बचने में मिली मदद

 


साइबर हेल्प लाईन नंबर 155260 से फ्रॉड रकम को ब्लॉक करने में मिली सफलता


रायपुर । असल बात न्यूज।

 राज्य में पुलिस प्रशासन के द्वारा  साइबर क्राईम पोर्टल में शुरू किए गए ‘‘सीटिजन फायनेंसियल फ्रॉड सिस्टम‘‘ का लाभ अब practically मिलने लगा है। फायनेंसियल फ्रॉड के मामलों में विभिन्न जिलो के द्वारा की गई त्वरित कार्यवाही के फलस्वरूप पीड़ितो के खाते में  धोखाधड़ी से डेबिट किए गए रकम को सफलतापूर्वक ब्लॉक करवाया जा रहा है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार इस क्रम में दिनांक 21.05.2021 को कोरबा जिला की आवेदिका ने पुलिस मुख्यालय स्थित टोल फ्री नंबर 155260 पर कॉल कर बताया कि उसने फोन-पे से बिजली बिल का पेमेंट करने की कोशिश की थी जो सफल नहीं हो पाया था। इस पर उसने गूगल पर फोन-पे का कस्टमर केयर नंबर सर्च किया था। कॉल करने पर साइबर धोखेबाजों के द्वारा आवेदिका से फोन-पे एप में कोड डालने हेतु कहा गया। कोड डालते ही आवेदिका के खाते से 4989/- रूपये डेबिट हो गया। आवेदिका से सूचना प्राप्त होने पर सहायक पुलिस महानिरीक्षक (तक.सेवा) पुलिस मुख्यालय   मनीष शर्मा से मार्गदर्शन प्राप्त कर  कवि गुप्ता उप पुलिस अधीक्षक (साइबर) ने आरक्षक दिलीप कुमार सिंह को त्वरित कार्यवाही करते हुए डेबिट हुए रकम को ब्लॉक करने हेतु निर्देशित किया।

 आरक्षक दिलीप कुमार सिंह ने तुरंत साइबर पोर्टल में ऑनलाईन शिकायत दर्ज करते हुए संबंधित बैंक के नोडल अधिकारी से संपर्क किया एवं तत्काल रकम ब्लॉक करवाया। इस तरह समय से प्राप्त सूचना एवं कार्यवाही के आधार पर आवेदिका को आर्थिक नुकसान से बचाने में सफलता प्राप्त की गई। इस संबंध में श्री आर.के. विज विशेष पुलिस महानिदेशक (तक.सेवा) ने बताया की साइबर क्राइम हेल्पलाईन नंबर 155260 पर आ रहे शिकायतों को देखते हुए यह सेवा अब 24X7 उपलब्ध करवाई जा रही है। उन्होंने साइबर क्राइम संबंधित फायनेंसियल क्राइम के मामलों में लोगो से तुरंत शिकायत दर्ज करने हेतु अपील किया है ताकि समय रहते आवेदक को आर्थिक नुकसान से बचाया जा सकें।