ट्रीटमेंट प्रोटोकाल में सिटी स्कैन स्कोर आधार नहीं है। ट्रीटमेंट की गाइडलाइंस सिर्फ ऑक्सीजन सेचुरेशन लेबल है - चिकित्सा विशेषज्ञ डॉ ओ पी सुंदरानी


 रायपुर। असल बात न्यूज।


 चिकित्सा विशेषज्ञ डॉ ओ पी सुंदरानी (एमबीबीएस एमडी ) ने कहा है कि दुनिया के किसी भी ट्रीटमेंट प्रोटोकाल में सिटी स्कैन के स्कोर के आधार पर ट्रीटमेंट नहीं है। सारे ट्रीटमेंट  की गाइडलाइंस सिर्फ और सिर्फ ऑक्सीजन सेचुरेशन लेबल्स है। 

डॉ डॉ सुंदरानी ने कहा कि लोगों में अभी एक कॉमनली चीज देखी जा रही है। मुझे भी दिन में कम से कम 50  ऐसे फ़ोन आते है कि मुझे कोविड पॉज़िटिव है और मेरा सिटी स्कोर 15 या 9 है आदि । जब मैं उनसे पूछता हूं कि ऑक्सीजन सेचुरेशन कितना है तो वे कहते हैं कि चेक करके बताता हूं।

 डॉ सुंदरानी ने कहा जितने पैसों में आप सिटी स्केन कराते हैं, उससे अच्छा आप एक  पल्स ऑक्सीमीटर अपने पास लेकर रखिए। दिन में कम से कम चार बार ऑक्सीजन लेवल रीडिंग लें। 6 मिनट का वाक टेस्ट (पैदल चलना) करें। ये  दोनों ऐसे टेस्ट है जो घर बैठे हो जाते है, जिसके लिए आपको कहीं जाने की जरूरत नहीं है ।

तो प्लीज और प्लीज वे सारे लोग जो पॉजिटिव है या जिनकी रिपोर्ट नहीं मिली है और सिस्टेमैटिक है, दिन में तीन से चार बार ऑक्सीजन लेवल की मॉनिटरिंग अवश्य करें।

 ऑक्सीमीटर में ऑक्सीजन लेवल 94 प्रतिशत या उससे नीचे होने या वाक ( चलने) के बाद आक्सीजन लेवल से 3 प्रतिशत से ज्यादा की गिरावट होने पर है, आपको तुरन्त मेडिकल अटेंशन की जरूरत है।