बीएसपी टाउनशिप एरिया में शुद्ध पेयजल के लिए अब तक किये गए प्रयास प्रभावी नहीं, आम जनता पूरी तरह संतुष्ट होनी चाहिए

 

बीएसपी में पेयजल आपूर्ति के मुद्दे पर कलेक्टर ने जताई सख्त नाराजगी

- बीएसपी के प्रबंधन से कहा, शुद्ध पेयजल लोगों की बुनियादी आवश्यकता, सिस्टम ठीक करने की गई कार्रवाई पर्याप्त नहीं

दुर्ग । असल बात न्यूज।

जिले के कलेक्टर ने माना है कि टाउनशिप एरिया में शुद्ध पेयजल को लेकर बीएसपी प्रबंधन  ने सिस्टम ठीक करने के लिए कार्रवाई जरूर की है लेकिन यह प्रभावी नहीं  है। उन्होंने कहा कि टाउनशिप में जिस पानी की आपूर्ति की जा रही है वह शुद्ध है तो इसका रंग भी उसी तरह दिखना चाहिए।

 कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने  बीएसपी टाउनशिप एरिया में शुद्ध पेयजल को लेकर बीएसपी के जलापूर्ति से संबंधित अधिकारियों की आज बैठक बुलाई। बैठक में कलेक्टर ने पेयजल को लेकर आ रही शिकायतों को लेकर सख्त नाराजगी जाहिर की। उन्होंने कहा कि पिछली बार फिल्टर प्लांट के निरीक्षण के दौरान यह निर्देश दिये गए थे कि पेयजल को लेकर नागरिक पूरी तरह संतुष्ट रहें। आप लोगों ने सिस्टम ठीक करने के लिए कार्रवाई जरूर की है लेकिन यह प्रभावी नहीं रही है क्योंकि अब भी शिकायतें आ रही हैं। उन्होंने कहा कि विशेषज्ञों से राय लेकर अस्थायी रूप से समस्या को दूर करने का हल खोजें और लोगों की समस्या तुरंत हल करें। स्थायी रूप से समस्या हल करने के लिए फिल्टर प्लांट के सिस्टम को आधुनिक तकनीक के मुताबिक अद्यतन करना जरूरी है। कलेक्टर ने कहा कि शुद्ध पेयजल का मुद्दा ऐसा है कि सारे पैरामीटर में पानी की गुणवत्ता खरी उतरनी चाहिए। पानी शुद्ध है तो इसका रंग भी उसी तरह दिखना चाहिए। उन्होंने कहा कि साफ पानी के विषय में शत प्रतिशत रिजल्ट चाहिए, इसमें एक प्रतिशत कमी की भी गुंजाइश नहीं हो सकती। बैठक में बीएसपी के अधिकारियों ने अब तक किये गए प्रयासों को विस्तार से बताया।

बीएसपी अधिकारियों ने बताया  कि टाउनशिप में की जा रही  जलापूर्ति पूरी तरह शुद्ध है। पानी के रंग को बेहतर करने को लेकर तकनीकी प्रयास किये जा रहे हैं। जल्द ही स्थिति बेहतर होगी। बैठक में बीएसपी अधिकारियों के साथ ही भिलाई निगम आयुक्त श्री ऋतुराज रघुवंशी, जलसंसाधन विभाग के कार्यपालन अभियंता श्री सुरेश पांडे, पीएचई के कार्यपालन अभियंता श्री समीर शर्मा सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

*गंगरेल से मंगाएंगे पानी- बैठक में बीएसपी के अधिकारियों ने बताया कि इसके लिए अन्य तकनीकी प्रयासों के साथ ही गंगरेल से भी पानी मंगाया जाएगा। कलेक्टर ने प्रबंधन से कहा कि शुद्ध पेयजल ऐसा विषय है जिसके लिए आपको त्वरित कार्य करने होंगे। इसके लिए जलसंसाधन विभाग के अधिकारियों से समन्वय कर लें।