स्वास्थ्य सेवाओं को बनाएं और अधिक बेहतर: गुरू रूद्रकुमार

 


लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एवं ग्रामोद्योग मंत्री ने अपने प्रभार वाले जिले नारायणपुर के जिला खनिज संस्थान न्यास निधि शासी परिषद की ली बैठक

रायपुर, नारायणपुर। असल बात न्यूज।


लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एवं ग्रामोद्योग मंत्री गुरू रूद्रकुमार ने आज अपने प्रभार वाले जिले नारायणपुर की जिला खनिज संस्थान न्यास निधि शासी परिषद की वर्चुअल बैठक ली। मंत्री गुरू रूद्रकुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल के नेतृत्व में राज्य में कोविड-19 के संभावित तीसरे चरण के मद्देनजर स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार पर जोर दिया जा रहा है। उन्होंने जिले में बच्चों के ईलाज के लिए आवश्यक संसाधन सहित चिकित्सा विशेषज्ञों एवं अधीनस्थ अमलों की नियुक्ति किए जाने और आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए सभी तैयारी रखने के निर्देश दिए। तृतीय फेस के आने के पहले ही इलाज की सभी तैयारी कर लिया जावे तथा बच्चों के इलाज के लिए सभी स्वास्थ्य सुविधाओं को और अधिक बेहतर किया जाना चाहिए।   


वर्चुअल बैठक में बस्तर सांसद  दीपक बैज, हस्तशिल्प विकास बोर्ड के अध्यक्ष एवं नारायणपुर विधायक  चंदन कश्यप, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती श्यामबती नेताम, जिला पंचायत उपाध्यक्ष श्री देवनाथ उसेण्डी द्वारा जिले में विकास कार्यों और कोविड-19 नियंत्रण के लिए अपने-अपने सुझाव दिये। साथ ही जिला प्रशासन द्वारा कोरोना नियंत्रण के लिए किये जा रहे प्रयासों की तारीफ की गई। उनके द्वारा खनिज संस्थान न्यास निधि के दिशा निर्देशों के अनुरूप उच्च प्राथमिकता के क्षेत्र स्वास्थ्य, शिक्षा एवं कृषि पर अधिक से अधिक निधि की राशि को व्यय किये जाने का प्रस्ताव दिया गया। बैठक में वर्ष 2021-22 के प्रथम तिमाही हेतु कार्ययोजना, जिला खनिज संस्थान निधि से स्वीकृत कार्यों की समीक्षा, जिला खनिज संस्थान न्यास नारायणपुर के वार्षिक प्रतिवेदन का अनुमोदन, जिला खनिज संस्थान न्यास नारायणपुर के वार्षिक ऑडिट तथा कार्ययोजना तैयार किये जाने हेतु विशेषज्ञ संस्थाओं की सहायता लिये जाने पर चर्चा की गयी। तिमाही कार्ययोजना में 6 करोड़ 46 लाख 63 हजार रूपये की कार्ययोजना का अनुमोदन किया गया। जिसमें स्वास्थ्य सेवाओं हेतु 4 करोड़ 69 लाख 13 हजार, कृषि एवं अन्य संबंधित गतिविधियों हेतु एक करोड़ 72 लाख 50 हजार, युवा गतिविधियों को बढ़ावा देने हेतु 5 लाख के प्रस्ताव का अनुमोदन किया गया। जिसमें स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार अंतर्गत कन्या छात्रावास में 500 सीटर नवीन कोविड केयर सेंटर का निर्माण, कोविड केयर सेंटर में आक्सीजन एवं आईसीयू बैड की स्थापना, कोविड केयर सेंटर में जनरेटर एवं टोकन डिस्टेन्सर की व्यवस्था, सुदुर क्षेत्रों में मेडिकल कैंप तथा दिव्यांगों के लिए जांच शिविर का आयोजन शामिल है। इसी प्रकार कृषि एवं उद्यानिकी क्षेत्रांतर्गत कृषि समृद्धि योजना एवं डीएमएफ मद अभिसरण में नलकूप खनन एवं 50 नग पंप प्रतिस्थापन कार्य, उन्नत कृषि हेतु ड्रिप सिंचाई स्थापना कार्य तथा सामूहिक खेती हेतु कृषि एवं उद्यानिकी विभाग के साथ अभिसरण में सुरक्षा घेरा लगाया जाना को शामिल किया गया है।


इस अवसर पर कलेक्टर  धर्मेश कुमार साहू ने कोरोना नियंत्रण के लिए जिले में किये जा रहे उपायों की जानकारी देते हुए बताया कि कोविड-19 नियंत्रण हेतु जिले में 10 टेस्टिंग टीम गठित की गई हैै। जिला मुख्यालय में दो डेडीकेटेड कोविड हॉस्पिटल और सभी विकासखण्डों में कोविड केयर सेंटर स्थापित किया गया है, जहां पर ऑक्सीजन बेड, एचडीओ बेड, आईसीयू सहित सामान्य बेड की व्यवस्था की गई है। वर्तमान में अधिकांश बेड खाली हैं। जिले पहले की तुलना में कोरोना के प्रकरणों में लगातार कमी आई है। उन्होंने टीकारकण के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि जिले में 18 से 44 वर्ष और 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों का भी टीकाकरण कार्य में तेजी से किया जा रहा है। बैठक में पुलिस अधीक्षक  मोहित गर्ग, एसडीएम श्री दिनेश कुमार नाग, डिप्टी कलेक्टर वैभव क्षेत्रज्ञ, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ ए.आर.गोटा सहित क्षेत्र के जनप्रतिनिधि एवं अन्य अधिकारी शामिल थे।