सेंट थॉमस महाविद्यालय में“प्रोफेशनल बिज़नेस स्किल्स” विषय पर सर्टिफिकेट कार्यकम आरंभ

 

भिलाई। असल बात न्यूज़।

सेंट थॉमस महाविद्यालय, भिलाई के प्रबंधन विभाग द्वारा वर्तमान उद्योग जगत की मांग को ध्यान में रखते हुए युवाओं को नवीनतम एवं उपयोगी प्रोफेशनल स्किल्स की जानकारी देने के लिए “प्रोफेशनल बिज़नेस स्किल्स” विषय पर सर्टिफिकेट कार्यकम आरंभ किया गया| इस कार्यक्रम की मुख्य अतिथि हेमचंद यादव विश्वविद्यालय की कुलपति डॉ अरुणा पलटा थी|

 सर्वप्रथम प्रबंधन विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ सुसन आर. अब्राहम ने सर्टिफिकेट कार्यक्रम की जानकारी देते हुए बताया की आगामी उद्योग जगत की रुपरेखा में होने वाले परिवर्तन को ध्यान में रखते हुए छात्रों के व्यक्तित्व विकास के लिए इस कार्यक्रम को बनाया गया है एवं उद्योग जगत के अनुभव प्राप्त वक्ताओं को इसमें सम्मिलित किया गया है| महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. एम. जी. रोईमोन ने सभी उपस्थित अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि सेंट थॉमस महाविद्यालय नित नए नए कार्यक्रमों के माध्यम से सदैव वर्तमान परिस्थिति के अनुसार छात्रों का विकास करने में वचनबद्ध है| कार्यक्रम की मुख्य अतिथि डॉ अरुणा पलटा ने कार्यक्रम की सराहना करते हुए कहा कि इस कार्यक्रम के माध्यम से युवाओं में निर्णय क्षमता एवं व्यक्तित्व का विकास होगा तथा उद्योग जगत के अनुरूप स्वयं को ढालने में सहायता मिलेगी|

 सेंट थॉमस महाविद्यालय के मैनेजर बिशप हिस ग्रेस डॉ जोसेफ मार डायनोशियस, मेट्रोपोलिटन कोलकाता डायोसिस ने प्रबंधन विभाग को अपनी शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आज इस वैश्विक महामारी के कारण परिस्थितियां बदल गयी है और युवाओं के लिए यह कार्यक्रम स्वयं को विकसित करने में बहुत उपयोगी सिद्ध होगा| महाविद्यालय के प्रशासक रेवरेंट फादर डॉ जोशी वर्गीस ने इस अवसर पर अपनी शुभकामनाये देते हुए  कहा कि आज प्रोफेशनल फील्ड की ज़रुरतों के अनुसार छात्रों को अपनी स्किल्स को विकसित करना होगा| आज कार्यक्रम के प्रथम दिन मुक्य वक्ता सुप्रसिद्ध ब्लौगर, स्टोरी टेलर एवं मोटिवेशन स्पीकर डॉ अजित वरवांदकर थे| उन्होंने जीवन में सर्वप्रथम लक्ष्य निर्धारित करने पर जोर देते हुए कहा कि आज के युवाओं को भविष्य की बदलती हुई परिस्थितयों को देखते हुए अपने कैरियर का चुनाव  करना चाहिए| उन्होंने कहा कि आज के समय में सोशल मिडिया कैरियर का चुनाव करने में बहुत ही उपयोगी है| फिर उन्होंने कार्यक्रम के प्रतिभागियों के प्रश्नों के उत्तर देकर उनकी शंकाओं का समाधान किया| कार्यक्रम का संचालन प्रबंधन विभाग के सहायक प्राध्यापक महेंद्र इखार ने किया एवं अंत में धन्यवाद ज्ञापन प्रबंधन विभाग की छात्रा गुरप्रीत कौर ने दिया।