मुख्यमंत्री जी प्रदेशवासियो को दारु नही, दवाई चाहिये --सांसद विजय बघेल

 

दुर्ग- असल बात न्यूज।

राज्य सरकार के ऑनलाइन दारू उपलब्ध कराने का निर्णय पर राज्य भर में व्यापक प्रतिक्रियाए हो रही हैं।दुर्ग लोकसभा क्षेत्र के सांसद विजय बघेल ने कहा है कि इस समय प्रदेश वासियों को दारु नहीं दवाई चाहिए।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोरोना का कहर जारी है प्रतिदिन 15000 हजार कोविड संक्रमित मरीज सामने आ रहे व संक्रमित मरीजो की मृत्यु दर में दिन ब दिन इजाफा हो रहा है। आज भी  बेहतर चिकित्सा सुविधा के अभाव में रोज तकरीबन 200 लोग अपनी जान गवा रहे हैं।  साँसद श्री  बघेल ने  राज्य सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि राज्य सरकार का  आन लाइन शराब बेचने का फैसला जनविरोधी है और इससे  प्रदेश भर के ढाई करोड़ लोगों में भारी आक्रोश व्याप्त हैं ।

उन्होंने  आगे कहा कि   कोरोना संकट की इस घड़ी में  सरकार को चाहिए कि अस्पतालों में ऑक्सीजन और  बेड व जीवनरक्षक रेमडीसीवीर इंजेक्शन की पर्याप्त मात्रा में उपलब्धता की योजना पर प्राथमिकता पूर्वक काम किया जा सके।  परंतु, यहां की गैरजवाबदार सरकार दारू बेचने पर उतारू है,। 18 प्लस  वैक्सिनेशन पर राज्य सरकार के वर्गीकरण  की गलत नीति पर हाईकोर्ट की फटकार के बावजूद भी वैक्सिनेशन सेंटर में एपीएल, बीपीएल ,अंत्योदय का स्टाल लगाकर वैक्सीन लगाया जा रहा है जो सरासर गलत है,। अधिकतर वैक्सीन सेंटर में  बीपीएल का कांउटर खाली है तो अन्य काउंटर में लंबी लम्बी कतारे देखने को मिल रही है जिससे सरकार की गलत नीति स्वयं उजागर हो रही है।, श्री बघेल ने कहा कि पूरे देश में वैक्सीन की निशुल्क आपूर्ति केंद्र सरकार के द्वारा की जा रही है। केंद्र सरकार से  18 प्लस आयु वर्ग के लोगों को लगाने के लिए मिले वैक्सीन में राजनीति करने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि राज्य सरकार लोगों को अलग-अलग वर्गो में बांट कर वैक्सीनेशन के बहाने राजनीति करना चाहती है। प्रदेश सरकार के वर्गीकरण की ऐसी नीति युवाओं को हतोउत्साहित करने वाली है। उन्होंने कहा कि अभी, युवाओ मे वैक्सिनेशन के प्रति जागरूकता लाने  की जरूरत है। इसके लिए प्रयास किया जाना चाहिए लेकिन राज्य सरकार इसकी चिंता छोड़  शराब बेचने की योजना बनाकर क्या जताना चाहती है यह समझ से परे है ,

    साँसद बघेल ने शराब नीति पर करारा हमला करते हुये कहा कि प्रदेश कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर से जूझ रहा है।,संक्रमित व्यक्ति ऑक्सीजन व जीवन रक्षक रेमडीसीवीर इंजेक्शन के लिये आज भी भटक रहे है, ऐसे विषम परिस्थिति में राज्य सरकार आन लाइन शराब बिक्री प्रारंभ कर देश को कोरोना के दलदल में दबोचने का भरपूर उपाय कर रही है,गरीब व मध्यम परिवार घर खर्च में कटौती कर अपना राशन समान जुगाड़ कर लॉक डाऊन में जैसे तैसे गुजर बसर कर रहे है पर दारू की डिलीवरी चालू होने से मदिरा प्रेमी गरीब व मध्यम परिवार एक बार फिर नशाखोरी के  चक्कर मे कर्ज के दलदल में दब जाएंगे ,।