28 दिन चंदूलाल चंद्राकर कोविड हास्पिटल में रहकर कोविड से जीती जंग, कहा डॉक्टर्स और हेल्थ स्टाफ की सेवा कभी नहीं भूल पाऊंगा

 

जवाहर नगर में रहते हैं सरदार वरयान सिंह जी, आक्सीजन लेवल उतर गया था 60 तक, लगातार आक्सीजन सपोर्ट और मेडिकल केयर से सुधरती गई स्थिति और अब पूरी तरह स्वस्थ

दुर्ग । असल बात न्यूज।

 जवाहर नगर में रहने वाले सरदान वरयान सिंह ने कोविड की जंग में अद्भुत जज्बा दिखाया है। वे लगातार 28 दिनों तक चंदूलाल चंद्राकर कोविड हास्पिटल में रहे। उनका आक्सीजन लेवल 60 तक गिर गया था लेकिन अपनी संकल्प शक्ति और डॉक्टरों द्वारा दिये संबल से उन्होंने कोविड का सामना किया और आज डिस्चार्ज होकर घर गये। डिस्चार्ज होने  के बाद वरयान सिंह  ने कहा कि मैं कभी भी इस हास्पिटल के स्टाफ के सपोर्ट और केयर को नहीं भूल पाऊंगा

 हर दिन उन्होंने मुझे ताकत से इस बीमारी से लड़ने की शक्ति प्रदान की और आज पूरी तरह स्वस्थ होकर घर लौट रहा हूं। सीसीएम के नोडल अधिकारी डॉ. अनिल शुक्ला ने बताया कि सरदार जी में जिजीविषा बहुत अधिक थी। वे हर पल ऊर्जा से भरे थे। उनका इलाज कर रहे डॉक्टर्स और स्टाफ से निरंतर उनके बारे में फीडबैक मिलते रहता था। जब वे आये तो आक्सीजन लेवल काफी गिरा हुआ था, हमने पहले दिन से ही मेडिसीन को लेकर प्लान किया और डॉक्टर लगातार उनकी स्थिति के मुताबिक मेडिसीन प्लान करते रहे। धीरे-धीरे वे रिकवरी के रास्ते पर आये और आखिर पूरे चार हफ्तों बाद उन्होंने कोविड की जंग जीत ली। इस तरह के मरीजों को रिकवर होता देख बहुत अच्छा लगता है।

 अभी 60 बरस पूरे कर चुके वरयान सिंह ने बताया कि अस्पताल का अनुभव बहुत अच्छा रहा। डॉ. बलविंदर जब भी राऊंड में आते, मुझसे कहते , आज आप कल की तुलना में और अच्छे लग रहे हैं। वे आश्वस्त करते कि आप जल्द ही अच्छे हो जाओगे, उनके संबल से दिन कटते रहे और धीरे-धीरे मैं रिकवरी के मोड में आते गया। हास्पिटल के दूसरे स्टाफ ने भी बहुत सेवाभाव से मेरा ख्याल रखा। खाने-पीने की भी सुविधा यहाँ पर अच्छी रही। 28 दिन का समय अस्पताल में इसलिए निकाल पाया कि हमेशा मन में उम्मीद रही कि हास्पिटल में जब इतना अच्छा इलाज मिल रहा है तो फिर दिक्कत क्यों होगी। श्री वरयान सिंह ने बताया कि मुझे शुगर की समस्या भी है। यह सब भी अस्पताल ने ध्यान रखा। श्री सिंह ने कहा कि मन में हमेशा सकारात्मक भाव रखना अच्छा होता है। आज सकारात्मक भाव रखने की वजह से मैं पूरी तरह स्वस्थ हूँ।