स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में वर्चुअल एलुमनी मीट

 

भिलाई। असल बात न्यूज़।


स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय हुडको भिलाई में वर्चुअल एलुमनी मीट का आयोजन किया गया जिसमें विद्यार्थी कोविड-19 के समय एक दूसरे से भावात्मक रूप से जुड़े रहे । इसमें वर्ष 2005 से 2020 तक महाविद्यालय के भूतपूर्व विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया।

वर्चुअल एलुमनी मीट की शुरूआत स.प्रा.पूजा सोढ़ा द्वारा एलुमनी सदस्यों के स्वागत भाषण व कार्यक्रम उद्धेश्यों से हुआ। एलुमनी सेल की सदस्य स.प्रा. निशा पाठक ने बताया कोविड-19 के परिस्थितियों में हम स्वयं को कैसे प्रबंधित करें तनाव व अपसाद से कैसे दूर रहे व दूसरों को तनाव मुक्त करने के लिये क्या सलाह दे सकते है तथा वर्तमान में एलुमनी स्वस्थ और सुरक्षित है। इस जानकारी के लिए एलुमनी मीट का आयोजन किया जा रहा है। 

महाविद्यालय के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डाॅ. दीपक शर्मा ने विद्यार्थियों की उज्जवल भविष्य की कामना की तथा कोरोना के विपरीत परिस्थितियों में स्वयं को सुरक्षित रखते हुये समाज को जागरूक करने के लिए कार्य करने के लिए कहा।

प्राचार्य डाॅ. हंसा शुक्ला ने अपने औपचारिक संबोधन में कहा अपने पुराने छात्रों को अपने बीच देख बहुत प्रसन्नता होती है एलुमनी मुकाम हासिल करने के बाद समझदार व परिपक्व हो जाते है। वह संस्था के विकास व विस्तार के लिये अपने सुझाव बेहिचक देते है और महाविद्यालय के गुणवत्ता को बढ़ाने के लिये सहयोग प्रदान करते है। उन्होंने विद्यार्थियों से पूछा आप अपने समय का सदुपयोग कैसे कर रहे है व विपरीत परिस्थितियों में प्रसन्न होने के लिये क्या कर रहेे है। 

एलुमनी रिचा पटेल ने बताया जब हम व्यस्त रहते है तो हमारा ध्यान दूसरी और नही जाता अतः व्यस्त रहना जरूरी है उन्होंने कोविड-19 सेवा समूह से जुडने की बात कही। रिचा ने कहा कि स्वयं कार्य करने से मैं समझ पा रही हूॅं कि शिक्षण कार्य कितने जिम्मेदारी का है और हमारे शिक्षक शिक्षण के अलावा हमारे अन्य शंकाओं का भी समाधान करते थे। 

निधि यादव ने बताया प्रारंभ में बहुत संकोयी स्वभाव की थी विभाग के प्राध्यापकों द्वारा बार-बार प्रोत्साहन देने से मैं कार्यक्रम में भाग लेने लगी इससे मेरा आत्मविश्वास काफी बढ़ा उपराजिता ने महाविद्यालय में बितायें पलों को साझा किया व बताया महाविद्यालय में पढ़ाई के साथ-साथ सर्वागींण व्यक्तित्व विकास पर बहुत ध्यान दिया जाता है। 

सोजू सेमवल ने कहा कोविड-19 के समय जब एंबुलेस जाते देखते है तो लोगों के मन में नकारात्मक विचार आता है एक और की मृत्यु हो गयी बल्कि हमें सकारात्मक सोच रखनी चाहिऐ की एक को चिकित्या सुविधा मिली और वह बच गया। रिचा पटेल ने प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों के लिये वर्कशाॅप व व्यक्तित्व विकास की कार्यशाला और अधिक आयोजित करने की बात कही। अन्य एल्मुनी ने महाविद्यालय से जुड़े हुये अपने अनुभव साझा किये। 

वर्चुअल मिटिंग होने के कारण विद्यार्थियों को आपस में न मिल पाने का मलाल रहा  उन्होंने प्राध्यापकों से स्थिति सामान्य होने पर बहुत जल्दी महाविद्यालय परिसर में एल्मुनी मीट कराने का निवेदन किया। इस अवसर पर एलुमनी के लिये क्वीज व मनोंरंजक अंताक्षरी कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें विद्यार्थियांे ने बढ़चढ़  कर भाग लिया एलुमनी परिषद् का गठन किया गया जिसके पदाधिकारी इस प्रकार है-

अध्यक्ष         - दीपक सिंह 

उपाध्यक्ष - अंजली साहू 

संचिव - निधि अग्रवाल

सह सचिव - रिचा पटेल 

कार्यक्रम  में मंच संचालन स.प्रा. निशा पाठक व धन्यवाद ज्ञापन एलुमनी संयोजक स.प्रा. मंजु कनौजिया शिक्षा विभाग ने दिया। एल्मुनी मीट में महाविद्यालय के सभी प्राध्यापकों ने भाग लिया।