सेंट थॉमस महाविद्यालय में रविंद्रनाथ टैगोर की 160 वी जयंती का वर्चुअल आयोजन

 

भिलाई। असल बात न्यूज़।

सेंट थॉमस महाविद्यालय भिलाई के अंग्रेजी विषय के स्नातकोत्तर विद्यार्थियों द्वारा गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर की श्रद्धा में 160 वी जयंती वर्चुअल माध्यम से मनाई गई। इस  अवसर पर स्नातक एवं स्नातकोत्तर  विद्यार्थियों ने सक्रिय रूप से भाग लिया।

 महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ एम जी रोईमोन ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए महान नोबेल पुरस्कार विजेता, कवि एवं राष्ट्रीय गान के रचनाकार पर प्रकाश डालते हुए  महत्वपूर्ण तथ्यों पर अपने विचार व्यक्त किए। उन्होंने भाषा और साहित्य के क्षेत्र में किए गए योगदान पर भी जोर डाला। अंग्रेजी विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ शाईनी  मेन्डोस ने सभी प्रतिभागियों का स्वागत किया। साथ ही टैगोर के विचारों एवं शैक्षिक आदर्शों के बारे में जानकारी दी। कार्यक्रम की शुरुआत श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए टैगोर द्वारा लिखे गए प्रसिद्ध बंगाली देशभक्ति और प्रतिष्ठित गीत 'एकला चलो रे' के मधुर गायन से हुई।  यह संगीत एम ए अंग्रेजी सेम 3 की विद्यार्थी सुष्मिता चौधरी द्वारा गाया गया। बी ए प्रथम की छात्रा दीप्ति साहू ने रविंद्र नाथ टैगोर के जीवन एवं कार्यों को पीपीटी के माध्यम से प्रदर्शित किया। बी ए द्वितीय की छात्रा श्वेता ने 'भारतीय पुनर्जागरण' के पिता विषय पर अपने विचार साझा किए। और एम ए प्रथम वर्ष की छात्राएं डिन्कल एवं मंजूलिका द्द्वारा शांति निकेतन पर एक लघु वृत्त चित्र भी प्रस्तुत किया गया । एम ए की छात्रा अंकिता देशमुख और दामिनी ने गीतांजलि के कुछ गीतों को सुनाया और कविता के महत्व को समझाया। बी ए तृतीय की छात्रा ने टैगोर के व्यक्तित्व पर प्रकाश डालते हुए महामारी के बीच प्रतिभागियों को आशा और सकारात्मकता प्रदान की।

 कार्यक्रम का संचालन अंग्रेजी विभाग की सहायक प्राध्यापक डॉ सुजाता कोले एवं धन्यवाद ज्ञापन सहायक प्राध्यापक श्रीमती सुजन एबीसन द्वारा किया गया।