जेएलएन अस्पताल ने कोविड मरीजों हेतु क्रिटीकल केयर सुविधाओं में की भारी वृद्धि

 बीएसपी की जीवन बचाने की मुहिम

भिलाई। असल बात न्यूज़।

भिलाई इस्पात संयंत्र प्रबंधन ने दावा किया है कि मुख्य चिकित्सालय सेक्टर 9 में कोविड मरीजों हेतु क्रिटीकल केयर सुविधाओं में की भारी वृद्धि की गई है। इस्पात बिरादरी के जीवन बचाने हेतु बीएसपी ने अपने क्रिटीकल केयर मुहिम को तेज कर दिया गया है। दूसरी तरफ कोरोना की चपेट में आकर मुख्य चिकित्सालय सेक्टर नाइन में आज फिर पिछले 24 घंटे के दौरान 7 लोगों की मौत हो गई है। हालांकि यह संख्या पिछले 4 दिनों से इस अस्पताल में कोरोना से हो रही मौत के मुकाबले में अपेक्षाकृत कम है।इस अस्पताल में सिर्फ 25 दिनों में लगभग 7800 से अधिक मरीज कैजुअल्टी में इलाज के लिए पहुंचे हैं।


 

BST management की ओर से बताया गया है कि सेल भिलाई इस्पात संयंत्र के जेएलएन अस्पताल में वर्तमान में कोविड-19 मरीजों की संख्या में बेतहाशा वृद्धि हुई है। इसके साथ ही कोविड के गंभीरअति गंभीर तथा क्रिटीकल मरीजों की संख्या में भी तेजी से वृद्धि देखी गई है। अतः इस्पात बिरादरी के जीवन बचाने हेतु बीएसपी ने अपने क्रिटीकल केयर मुहिम को तेज कर दिया है। सिर्फ 1 अप्रैल, 2021 से अब तक 2000 से अधिक मरीजों को भर्ती किया गया।

सिर्फ अप्रेल माह में 15000 से भी अधिक मरीजों का इलाज

जहां कोविड-19 के पूर्व इस अस्पताल के कैजुअल्टी में लगभग 3000 मरीज आते थेआज अप्रैल, 2021 के सिर्फ 25 दिनों में लगभग 7800 से अधिक मरीज कैजुअल्टी में इलाज हेतु पहुंचे। कैजुअल्टी की इंचार्ज डॉक्टर मीनाक्षी दवे व उनकी टीम ने बड़े धैर्य के साथ इनका इलाज कर रही हैं।

इसके अतिरिक्त इस अस्पताल में संचालित फ्लू-क्लीनिक में सिर्फ अप्रैल, 2021 में अब तक 7700 से अधिक मरीजों ने अपना इलाज कराया है। मरीजों के इन दोनों संख्याओं को मिला दिया जाए तो लगभग 15,500 से अधिक मरीज सिर्फ अप्रैल, 2021 में ही इलाज हेतु इस अस्पताल में आ चुके हैं। यह संख्या सामान्य दिनों से 5 गुना अधिक है।

कोविड-19 मरीजों के इस बढ़ते दबाव के बीच बीएसपी प्रबंधन ने निरंतर सुविधाओं में वृद्धि की है। बीएसपी के मेडिकल टीम ने इस दबाव का बड़ी हिम्मत से सामना किया है। इस टीम ने अपने जान को जोखिम में डालकर भी इन मरीजों की सेवा में अपना दिन रात एक कर दिया है। इसके साथ ही प्रबंधन ने भी सुविधा के विस्तार में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ा है। अस्पताल की सुविधाओं में निरंतर वृद्धि की जा रही है। जिससे भिलाई की इस्पात बिरादरी बेहतर चिकित्सा प्राप्त कर सके।

क्रिटीकल केयर सुविधाओं में वृद्धि

वर्तमान में अप्रैल, 2021 से अब तक 2000 से अधिक मरीजों को भर्ती किया गया। इनमें से कई गंभीर मरीजों का इलाज किया गया एवं वर्तमान में भी इलाज जारी है। कोविड मरीजों की गंभीर स्थिति को देखते हुए संयंत्र प्रबंधन तथा अस्पताल प्रबंधन ने सेक्टर-अस्पताल में क्रिटीकल केयर की सुविधाओं में भारी वृद्धि की है। जहाँ आॅक्सीजन बेडस् बढ़ाए गयेवहीं अति गंभीर मरीजों हेतु आईसीयू बेडस् में भी वृद्धि की गई। इसके साथ ही बेहद क्रिटीकल मरीजों के लिए वेंटीलेटर्स की संख्या भी बढ़ाई गयी है। इसी प्रकार कोविड के गंभीर मरीजों के इलाज के लिए कई नई व बेहतरीन सुविधाएँ उपलब्ध कराई गयी है। जिसमें एचडीयू बेडस् के साथ-साथ सी-पैप मशीनें व बाई-पैप मशीनें भी लगाई गयी है। इसके अतिरिक्त आॅक्सीजन की व्यवस्था में भी सुधार किया गया है। आज दिनाँक 26 अप्रेल, 2021 को बाई-पैप मशीनों को तत्काल मंगाकर अस्पताल में स्थापित कर दिया गया है। इस प्रकार कोविड मरीजों को बचाने हेतु आवश्यक क्रिटीकल केयर की हर संभव सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है।